रक्सौल के मशहूर स्वर्ण व्यवसायी व भावी मुखिया प्रत्याशी कपिल देव प्रसाद व उनके पोते को अपराधियों ने मारी गोली।

पोते की हुई हुई मौके पर मौत, कपिल देव प्रसाद की हालत नाजुक

जेटी न्यूज, डी एन कुशवाहा

रामगढ़वा पूर्वी चंपारण- पलनवा थाना क्षेत्र के तापसी परसौना गांव निवासी व रक्सौल श्री ज्वेलर्स के मालिक तथा भावी मुखिया प्रत्याशी कपिलदेव प्रसाद एवं उनके भतीजा भूटकुन साह के 23 वर्षीय पुत्र चंदन साह उर्फ बजरंगी कुमार की अपराधियों ने लौकरिया डिबनी पुल के पास सोमवार की देर संध्या गोली मार दी। उस घटना की सूचना मिलते भेलाही ओपी प्रभारी मनोज कुमार, पलनवा थानाध्यक्ष प्रभाकर पाठक तथा रामगढ़वा थानाध्यक्ष तथा दारोगा अवधेश कुमार सिंह सहित अन्य पुलिस बल ने आनन-फानन में दोनों जख्मियों को एसआरपी हॉस्पिटल रक्सौल में लाकर भर्ती कराया। जहां के चिकित्सकों ने चंदन कुमार उर्फ बजरंगी को मृत घोषित कर दिया। वही कपिल देव प्रसाद अचेता अवस्था में इलाज रत हैं। उक्त घटना के संबंध में पलनवा थानाध्यक्ष प्रभाकर पाठक ने बताया कि उक्त दोनों स्वर्ण व्यवसायी संध्या 7 बजे के करीब रक्सौल से घर जा रहे थे। जिन्हें 3 बाइकों पर सवार करीब आधा दर्जन अपराधियों ने लौकरिया डिबनी पुल के पास गोली मार दी। गोली मारने के बाद अपराधी अंधेरे का लाभ उठाकर नौ दो ग्यारह हो गए।


गौरतलब हो कि कपिल देव प्रसाद के बड़े पुत्र विजय कुमार की हत्या 15 वर्ष पूर्व उनके रक्सौल सोनारपट्टी स्थित श्री ज्वेलर्स में ही अपराधियों ने दिनदहाड़े गोली मारकर कर दी थी। अभी आगामी मुखिया के चुनाव में कपिल देव प्रसाद परसौना तापसी पंचायत से मुखिया के प्रमुख दावेदार हैं। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार वे विजयी होने वाले प्रत्याशी हैं। इस घटना के बाद तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है, जितनी मुंह उतनी बातें हो रही है। किसी का कहना है कि व्यवसायिक प्रतिद्वंद्विता के चलते इस घटना को अंजाम दिया गया होगा, तो किसी का कहना है कि चुनाव में मुखिया पद के प्रतिद्वंद्विता के चलते इनको अपराधियों द्वारा गोली मारी गई होगी। मिलाजुला कर कुछ भी कोई कहे लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि कपिल देव प्रसाद के पीछे अपराधी विगत 15 – 20 सालों से लगे हुए हैं, तभी इनके साथ बार-बार घटना घट रही है। वर्तमान में कपिल देव प्रसाद जीवन व मौत से जूझ रहे हैं। एसआरपी हॉस्पिटल में अनुमंडल के कई थानों की पुलिस एवं वरीय पदाधिकारी पहुंच चुके हैं। मामले की छानबीन हो रही है। पुलिस अनुसंधान के बाद ही पता चलेगा की हकीकत क्या है ? समाचार प्रेषण तक किसी भी अपराधी की गिरफ्तारी नहीं हुई थी।

 266 total views,  4 views today