*08 दिसम्बर 19 को दिल्ली में हुए।भीषण अग्निकांड में 50 मजदूर मारे गए, उनके परिजनों को सरकारी नौकरी व 50 लाख रुपए मुआवजा दो—(एक्टू AICCTU )

🔊 Listen This News *08 दिसम्बर 19 को दिल्ली में हुए।भीषण अग्निकांड में 50 मजदूर मारे गए, उनके परिजनों को सरकारी नौकरी व 50 लाख रुपए मुआवजा दो—एक्टू AICCTU समस्तीपुर 11 दिसम्बर ::- समस्तीपुर के मालगोदाम चौक लेलिन आश्रम से आंल इंडिया सेन्ट्रल काउंसिल ऑफ टैरेड युनियन एक्टू के बैनर तले शहर के विभिन्न मार्गो […]

 444 total views,  1 views today

*08 दिसम्बर 19 को दिल्ली में हुए।भीषण अग्निकांड में 50 मजदूर मारे गए, उनके परिजनों को सरकारी नौकरी व 50 लाख रुपए मुआवजा दो—एक्टू AICCTU
समस्तीपुर 11 दिसम्बर ::- समस्तीपुर के मालगोदाम चौक लेलिन आश्रम से आंल इंडिया सेन्ट्रल काउंसिल ऑफ टैरेड युनियन एक्टू के बैनर तले शहर के विभिन्न मार्गो से होते हुए शहर के गांधी स्मारक चौक पर एक प्रतिरोध सभा किया गया। प्रतिरोध सभा को एक्टू जिला कमिटी संह खेगरामस समस्तीपुर जिला सचिव एवं ऐक्टू राज्य कमेटी सदस्य अशोक कुमार ने कहा कि यह महज़ दुर्घटना नही है।

बल्कि देश के संसद भवन के मात्र चार किलोमीटर के नजदीक मजदूर व श्रम कानून विरोधी मोदी सरकार जनित निति रवैया के कारण जनित मजदूरों का जनसंघार है।दुसरी तरफ राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ही सीवर में सफाई मजदूरों से लेकर खदानों और कारखानों और देश भर में भुख से मजदूरों कि घटना जनित जनसंघार लगातार देश में जारी है। और हर महीने सैकड़ों मजदूर इस जनसंघार के शिकार हो रहे हैं। और देश का सांसद मौन है। और मोदी सरकार खामोश है। जबकि ऐक्टू और के सभी केंद्रीय टैरड युनियने हमेशा कड़ाई से श्रम कानूनों को लागू करने की मांग करतीं रहीं हैं। लेकिन ठीक विपरीत मोदी सरकार ने उल्टे 44 श्रम कानूनों को खत्म कर कारपोरेट-पुजीपंतियो के पक्ष में खड़ी है। एक्टू मोदी सरकार से मजदूरों के इस घटनाजनित जनसंघार पर ज़बाब देने तथा बेरोजगार हुए, मजदूरों एव मीरतक के आश्रितों को सरकारी नौकरी एवं 50 लाख रुपए मुआवजा एवं घायलों को मुफ्त इलाज व 10-10 लाख रुपए मुआवजा की मांग करतीं हैं। प्रतिरोध सभा में भाकपा माले जिला सचिव उमेश कुमार, ऐक्टू जिला कमिटी सदस्य विमल पासवान, सरफराज आलम,फुलदेव सदा, सखीचंद सदा,अजय कुमार पासवान,अरूण राय, राजकुमार चौधरी,मिनटु कुमार आदि ने विचार रखे।

 445 total views,  2 views today