*दरभंगा में 21 दिसम्बर को विरोध जुलूस एवं 19 दिसम्बर को शहर में निकलेगा मशाल जुलूस*

🔊 Listen This News   *दरभंगा में 21 दिसम्बर को विरोध जुलूस एवं 19 दिसम्बर को शहर में निकलेगा मशाल जुलूस *शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों के जिम्मेदारों की बैठक में सर्वसम्मति से लिया गया फैसला*   दरभंगा- नागरिकता संशोधन बिल ना सिर्फ मुसलमानों के खिलाफ है बल्कि ये आइडिया आफ इंडिया के खिलाफ है, यह […]

 503 total views,  3 views today

 

*दरभंगा में 21 दिसम्बर को विरोध जुलूस एवं 19 दिसम्बर को शहर में निकलेगा मशाल जुलूस

*शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों के जिम्मेदारों की बैठक में सर्वसम्मति से लिया गया फैसला*

 

दरभंगा- नागरिकता संशोधन बिल ना सिर्फ मुसलमानों के खिलाफ है बल्कि ये आइडिया आफ इंडिया के खिलाफ है, यह पूरी तरह असंवैधानिक और देश को तोड़ने वाला बिल है और यही कारण है कि मुसलमानों के एलावह देश का इंसाफ पसंद नागरिक इस बिल का खुल कर विरोध कर रहा है। यह धार्मिक आधारों पर देश को बाँटने की साजिश है। उक्त बातें आज आॅल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवां की दावत पर शहर के मोमिन हौल लालबाग, दरभंगा में बैठक के दौरान वक्ताओं ने किया। बैठक की अध्यक्षता पूर्व ए0डी0एम0 नेयाज अहमद ने की।

सरपरस्त की हैसियत से इस अवसर पर प्रो0 शाकिर खलीक साहब भी उपस्थित थे। बैठक में शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोग उपस्थित हुए। बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि 21 दिसम्बर, 2019 को किलाघाट से दरभंगा कमिश्नरी तक विशाल विरोध जुलूस निकाला जायगा। यह जुलूस दिन के 10 बजे निकलेगा।

जुलूस की कामयाबी हेतु दिनांक 19 दिसम्बर, को संध्या में शहर के विभिन्न क्षेत्रों में मशाल जुलूस निकाल कर लोगों को जागरूक किया जायगा। कार्यक्रम की तैयारी को लेकर एक 15 सदस्यी कमिटि भी बनाई गई। कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने लिए शहर के अल्लामा इकबाल लाईब्रेरी में दिनांक 15 दिसम्बर को दिन के 11 बजे एक बैठक बुलाई गई है उक्त बैठक में भी और लागों को कमिटि में जोड़ा जायगा ताकि यह विशाल विरोध प्रदर्शन सफल हो सके। बैठक में यह भी फैसला लिया गया कि इंसाफ पसंद एवं धर्मनिर्पेक्ष हिन्दु भाईयों को भी इस विरोध जुलूस में अधिक अधिक संख्या में शामिल करने के लिए सम्पर्क किया जाए। बैठक में पूर्व ए0डी0एम0 नेयाज अहमद, प्रो0 शाकिर खलीक, शकील सलफी, कारी नसीम अखतर कासमी, अकरम सिद्दीकी, पूर्व पार्षद नफिसुलहक रिंकु, मो0 साजिद हुसैन, मो0 रेयाज खान कादरी, मो0 राजा अंसारी, शाहिद अतहर, खलीकुज्जमा उर्फ पप्पु, मो0 साजिद कैसर, हाफिज लईक मंजर वाजदी, फिदा हुसैन भुट्टो कुरैशी, सैयद अखतर हसन, मो0 खालिद रजा कादरी, नजरे आलम, आफताब आलम, मो0 शाहिद परवेज, बदरूलहोदा खान, मोतिउर रहमान मोती, मो0 हिरा कुरैशी, मो0 आरजु खान, डा0 बदरूलहसन, मो0 सनाउल्लाह, अशरफ सुबहानी, मो0 हुसैन, शमस तबरेज, नौशाद अहमद, मो0 तालिब आदि बड़ी संख्या में लोग उपस्थित हुए।

 

 504 total views,  4 views today