हरियाणा के कागजात फेल गाड़ी का बिहार में मिली इंट्री,

🔊 Listen This News हरियाणा के खट्टर सरकार पर मेहरबान हुए बिहार के नीतीश कुमार   समस्तीपुर जिला भी एक कदम आगे वर्षो से कागजात फेल गाड़ी से कराया जा रहा प्रचार-प्रसार पत्रकारों द्धारा कागजात फेल होने के सवालों पर जिलाधिकारी ने जल जीवन हरियाली को माना एनजीओ का कार्यक्रम पूछ रहा जिलावासी मुख्यमंत्री का […]

 574 total views,  5 views today

हरियाणा के खट्टर सरकार पर मेहरबान हुए बिहार के नीतीश कुमार

 

समस्तीपुर जिला भी एक कदम आगे वर्षो से कागजात फेल गाड़ी से कराया जा रहा प्रचार-प्रसार

पत्रकारों द्धारा कागजात फेल होने के सवालों पर जिलाधिकारी ने जल जीवन हरियाली को माना एनजीओ का कार्यक्रम

पूछ रहा जिलावासी मुख्यमंत्री का कथन सच्चा या जिलाधिकारी का बयान

कहीं सरकारी योजना के नाम पर बिहार में सरकारी राशि का दुरूपयोग

आर. के. राय
समसतीपुर ::-समस्तीपुर के जिलाधिकारी शशांक शेखर ने समाहरणालय सभाकक्ष में पत्रकार सम्मेलन आयोजित कर जल जीवन हरियाली, नशा मुक्ति,बाल विवाह समाप्ति व दहेज उन्मूलन विषय पर राज्यव्यापी मानव श्रृंखला 19 जनवरी 2020 रविवार को समस्तीपुर जिला में सफलतापूर्वक सफल करने के लिए पत्रकार सम्मेलन में पत्रकारों को संबोधित किया आगे बताया जल जीवन हरियाली, नशा मुक्ति , बाल विवाह समाप्ति एवं उन्मूलन को लेकर मानव श्रृंखला बिहार सरकार के अत्यंत महत्व कांची योजना है इस कार्यक्रम के तहत जिलें में कुल 732 किलोमीटर दूरी में 35 मार्गो पर मानव श्रृंखला बनाने की योजना है, इस योजना अंतर्गत वार्ड में 500 मीटर का आयोजन होगा। वहीं इस कार्यक्रम को सफल करने के लिए और लोगों को जागरूक करने के लिए साईकिल रैली , मशाल जुलूस एवं बिहार सरकार के जितना भी विभाग है उसके कर्मचारी को भी लगाया जायेगा। इस सिलसिले में आंगनवाड़ी दीदी, आशा बहू समेत अन्य लोगों को भी जोड़कर इसे सफल बनाना है इस कार्यक्रम में प्राइमरी स्कूल को छोड़कर मिडिल स्कूल व हाई स्कूल के छात्र-छात्राओं का भी सहयोग लिया जाएगा।इस योजना का सही आंकड़ा पेश किया जाए जिस लिए रजिस्टर का भी व्यवस्था की गई है। और जिस लोगों का कितना सहयोग होगा उसकी सही जानकारी मिल सकेगी।इस कार्यक्रम में अनुमंडल पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी सहित प्रधानाचार्य की भी बैठक प्रखंड स्तर पर किए जाने का आदेश जारी कर दिया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि इस कार्यक्रम पटेल मैदान में समारोह के रूप में मनाया जायेगा।इसकी तैयारी और मजबूती से हो इसलिए 4 जनवरी को जिलें के सांसद, विधायक एवं और भी जनप्रतिनिधियों का बैठक आयोजित की गई है। इस कार्यक्रम में वार्ड सदस्य से लेकर जिला परिषद् तक का जनप्रतिनिधी भाग लेंगे जिस लिए उन्हें आमंत्रित भी किया गया है। प्रत्येक एक किलोमीटर पर एक सेक्टर बनाया जायेगा जो सौ-सौ मीटर पर अवस्थित होगा। जब पत्रकार ने इस विधि व्यवस्था को लेकर जिलाधिकारी से प्रश्न करना चाहा तब जिलाधिकारी ने अपने बचाव में उस पत्रकार को अप्रत्यक्ष रूप से धमकी अवश्य दें डाली। इसके पूर्व में एक जागरूकता अभियान के तहत सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं एल०ई०डी० युक्त दो गाड़ियों को प्रभारी जिलाधिकारी उप विकास आयुक्त वरूण कुमार मिश्रा ने हरी झंडी दिखाकर समाहरणालय परिसर से रवाना किया।जो कि और भी चर्चा का विषय बन गया। जहां बिहार सरकार जल जीवन हरियाली की सफलता को लेकर दावे ठोकते दिख रहें हैं वहीं जहां परिवहन की टैक्स , फिटनेस , बीमा से राजस्व को मुनाफा होने का दावा कर रहे थे। वहीं एलईडी युक्त हरियाणा की गाड़ी ने सारी पोल खोल दी और बिना गाड़ी की कागजात तंदुरुस्त का बिहार सरकार के द्धारा लेना जिलें का चर्चा का विषय बन गया। जितनी लोगों की सुनें उतनी चर्चा कहीं हरियाणा के खट्टर सरकार पर तो मेहरबान तो नहीं हैं बिहार के नीतीश कुमार। वहीं समस्तीपुर जिलाधिकारी बिहार सरकार से एक कदम आगे निकलते दिखें जहां साल भर कागजात फेल की इंट्री बिहार सरकार ने किया वहीं समस्तीपुर जिलाधिकारी भी पीछे कहां रहने वाले उसने भी बगैर कागजात जांच किए फिटनेस,बीमा, और प्रदूषण फेल गाड़ी से प्रचार प्रसार करानें से पीछे नहीं रहें। जब हरी झंडी दिखा रहें प्रभारी जिलाधिकारी व डीडीसी से इस मामले में बात करने का कोशिश किया गया तब अपनी गलती छुपाने के लिए जल जीवन हरियाली, नशा मुक्ति ,बाल विवाह समाप्ति , योजना को सरकारी योजना मानने से इंकार अवश्य कर दिए। अब सवाल बनता है जब बिहार के मुख्यमंत्री इस योजना को सरकारी योजना मानते हैं और हजारों करोड़ रूपए इसकी सफलता होने में खर्च करते हैं वहीं इन्हीं के अधिनस्थ अधिकारी सरकारी योजना नहीं मानते हैं।तब आखिर जब सरकारी योजना नहीं है तब एक एनजीओ को इतनी सरकारी मदद बिहार वासियों को सोचनीय अवश्य बना रहा है। कहीं बिहार सरकार या उसकी अधिनस्थ अधिकारी सरकारी राशि का दुरूपयोग तो नहीं कर रहें हैं। गुरु गुड़ चेला चीनी यही है अपना बिहार की कहानी।( राम नाम का लूट है लूट सकें तो लूट , अंत काल पछताएंगे जब कुर्सी जायेगी छूट )।

 575 total views,  6 views today