*मॉब लिंचिंग के खिलाफ समाहरणालय के सामने धरना व प्रदर्शन। ब्यूरो रमेश शंकर झा समस्तीपुर बिहार। सब पे नजर सबकी खबर, हमसे जुड़ने के लिए:- ८७०९०१७८०९, ९४७०६१६२६८, ९४३१४०६२६२ पर संपर्क करें।*

  ब्यूरो रमेश शंकर झा समस्तीपुर बिहार। समस्तीपुर:- लगातार मॉब लिंचिंग के खिलाफ आज समस्तीपुर जिले में वतन विकास संगठन के नेतृत्व में अन्य राजनीतिक संगठनों ने मिलकर विशाल आवामी जुलूस निकाला। विभिन्न जिलों, प्रखंडों और कस्बे से आए लोगों ने इस जुलूस में शिरकत हो कर मॉब लिंचिंग के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर कीया। […]

 

ब्यूरो रमेश शंकर झा
समस्तीपुर बिहार।

समस्तीपुर:- लगातार मॉब लिंचिंग के खिलाफ आज समस्तीपुर जिले में वतन विकास संगठन के नेतृत्व में अन्य राजनीतिक संगठनों ने मिलकर विशाल आवामी जुलूस निकाला। विभिन्न जिलों, प्रखंडों और कस्बे से आए लोगों ने इस जुलूस में शिरकत हो कर मॉब लिंचिंग के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर कीया। आए हुए लोगों को नेतृत्व करते हुए वतन विकास संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह वरीय अधिवक्ता अंजार उल हक सहारा और प्रदेश अध्यक्ष सैयदउल जफर अंसारी। वहीँ चीनी मिल से जुलूस को आगे बढ़ाते हुए समाहरणालय के सामने जोरदार प्रदर्शन व समाहरणालय का घेराव करते हुए मॉब लिंचिंग के खिलाफ जोरदार नारे लगाएं। जुलूस में शिरकत किए लोगों ने सरकार को कठपुतली बताया और भाषण देते हुए अधिवक्ता व विकास संगठन के सुप्रीमो ने अपने भाषण में कहा कि देश में आज हर ओर अराजकता फैला हुआ है। देश में गुंडे मवाली का राज है। कमजोर वर्गों के विरुद्ध की जा रही हिंसक घटनाओं के पीछे मोदी सरकार का मौन सहमति दिखती है। हाल ही में हुए तबरेज अंसारी की धर्म के नाम पर मॉब लिंचिंग की गई, हत्या राष्ट्रद्रोह है। जिसका विरोध यू एन ओ समेत हर देश में हो रहा है। वहीँ वतन विकास संगठन के प्रदेश अध्यक्ष सैयदउल जफर अंसारी ने अल्पसंख्यक एवं अनुसूचित जाति के लोगों के तमाम इच्छुक लोगों को एक विशेष अभियान चलाकर आर्म्स लाइसेंस देने की मांग कीया है। यह भी कि मृतक तबरेज अंसारी के परिजनों को 5 करोड़ की क्षतिपूर्ति दे। इस जुलूस को सफल बनाते हुए सीपीआई माले, भीम आर्मी, बामसेफ, गुरुद्वारा, चर्च, और जमीअतुल उलमाई हिंद, एम आई एम बिहार यूथ फेडरेशन आजाद हिंद सेना इत्यादि संगठनों के अध्यक्षों ने मिलकर एक सुर में मोदी के खिलाफ नाराजगी जाहिर किया, मोदी सरकार से आग्रह किया है कि मॉब लिंचिंग जैसे अप्रिय घटना के लिए भी एक कानून बनाई जाए। सभा में मौजूद अन्य वक्ताओं ने भी अपने विचार परामर्श जाहिर किया। जिनमें डॉक्टर इकबाल, मोहम्मद शमी, मन्नू पासवान, मोहम्मद अजीम पूर्व मुखिया और अन्य लोग मौजूद थे।