*पूसा विश्वविद्यालय के मामले में डीएम से राष्ट्रपति तक लगाएंगे न्याय की गुहार: शाहीन*

विश्वविद्यालय के सैकड़ों छात्रों ने कुलपति के खिलाफ अपने पक्ष को मजबूती से स्थानीय विधायकों के सामने रखा

*पूसा विश्वविद्यालय के मामले में डीएम से राष्ट्रपति तक लगाएंगे न्याय की गुहार: शाहीन*

विश्वविद्यालय के सैकड़ों छात्रों ने कुलपति के खिलाफ अपने पक्ष को मजबूती से स्थानीय विधायकों के सामने रखा

जेटी न्यूज़

समस्तीपुर: डॉ राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय, पूसा के सैकड़ों छात्रों ने समस्तीपुर आकर स्थानीय विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन, माकपा विधायक दल के नेता अजय कुमार एवं उजियारपुर के पूर्व विधायक दुर्गा प्रसाद सिंह से उदय शंकर भवन स्टेशन रोड में मिलकर विश्वविद्यालय द्वारा छात्रों के जीवन से खिलवाड़ किए जाने का शिकायत किया है और कहा कि 21 तारीख के घटनाक्रम के कारण विश्वविद्यालय प्रशासन ने अनिश्चित कालीन विश्वविद्यालय को बंद कर दिया है। जिस कारण छात्रों के जीवन से खिलवाड़ की जा रही है। छात्र और छात्राओं ने तीनों माननीय सदस्यों से यह निवेदन किया कि ऐसे छात्रों के खिलाफ विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा झूठा आरोप लगाते हुए विश्वविद्यालय में आगजनी और विश्वविद्यालय में तोड़फोड़ के आरोप लगाए गए हैं। छात्र-छात्राओं ने अभिभावकतुल विधायकों से कहा है कि जो छात्र अखिल साहू के साथ इलाज के लिए मुजफ्फरपुर गए थे ऐसे छात्रों के खिलाफ पूसा थाना में अलग-अलग तीन अपराधिक मामले दर्ज कराए हैं जो कि निराधार, बेबुनियाद और झूठा आरोप है। मृतक छात्र अखिल साहू के घटना के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने इलाज के लिए कोई सहयोग नहीं किया और उल्टे छात्रों पर बेबुनियाद आरोप लगाकर विश्वविद्यालय को बंद कर दिया और झूठा अपराधिक मामला छात्रों पर कर दिया है।

 

जिसकी जांच कराने के लिए समस्तीपुर समेत तीनों विधायकों से अपील किया है। साथ ही साथ यह भी कहा है कि सैकड़ों छात्र का अंतिम सेमेस्टर है जो जून में समाप्त हो रहा है और सैकड़ों ऐसे छात्र हैं जिन्हें अलग-अलग जगहों में नामांकन से लेकर नौकरी में जाने के लिए विश्वविद्यालय से प्रमाण पत्र की आवश्यकता है, विश्वविद्यालय अनिश्चचित कालीन बंद किए जाने से सैकड़ों छात्र का भविष्य अंधकारमय हो जाएगा।

 

विधायक अजय कुमार, उजियारपुर के पूर्व विधायक दुर्गा प्रसाद सिंह और समस्तीपुर के विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने छात्र-छात्राओं की बात गंभीरता से सुनते हुए कहा कि समस्तीपुर जिला प्रशासन से लेकर राष्ट्रपति तक इस घटना में निर्दोष लोगों को फंसाए जाने के खिलाफ जाना पड़ेगा तो जाएंगे। तीनों विधायक ने समस्तीपुर के एसपी और डीएम से मिलकर छात्रों की समस्या को शीघ्र निदान करने और तत्काल विश्वविद्यालय खोलने की मांग को लेकर एक ज्ञापन संयुक्त रूप से देंगे।वहीं ख़बर लिखे जाने तक विधायको की मुलाकात जिलाधिकारी व एसएसपी से नहीं हो पायी है।

 375 total views,  3 views today