समस्तीपुर के नए जिलाधिकारी बने दिवेश सेहरा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली को रोककर आए थे सुर्खियों में दिवेश सेहरा। रमेश शंकर झा/राजकुमार राय समस्तीपुर बिहार।

🔊 Listen This News रमेश शंकर झा/राजकुमार राय समस्तीपुर बिहार। समस्तीपुर:- निर्वाचन आयोग के आदेश पर समस्तीपुर  जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह का तबादला आज कर दिया गया। उनके स्थान पर नए जिलाधिकारी दिवेश सेहरा को बनाया गया। चुनाव आयोग के आदेश पर नए जिलाधिकारी के रूप में दिवेश सेहरा आज बुधवार को समस्तीपुर पहुंच कर अपना […]

 294 total views,  1 views today

रमेश शंकर झा/राजकुमार राय
समस्तीपुर बिहार।

समस्तीपुर:- निर्वाचन आयोग के आदेश पर समस्तीपुर  जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह का तबादला आज कर दिया गया। उनके स्थान पर नए जिलाधिकारी दिवेश सेहरा को बनाया गया। चुनाव आयोग के आदेश पर नए जिलाधिकारी के रूप में दिवेश सेहरा आज बुधवार को समस्तीपुर पहुंच कर अपना योगदान किया। वहीँ योगदान के साथ ही अधिकारियों की बैठक त्वरित किया व चुनाव की तैयारी की समीक्षा भी किया। वहीँ जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह को पीएचईडी विभाग का संयुक्त सचिव बनाया गया। लोकसभा चुनाव के दौरान, अचानक तबादला को लेकर कई तरह की चर्चा भी है। बतादें कि समस्तीपुर के नए जिलाधिकारी दिवेश सेहरा जब कैमुर के तत्कालीन जिलाधिकारी थे, तो उन्होंने 2015 में बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कैमूर में होने वाली रैली को परमिशन नहीं दीया था। इस बात को लेकर बिहार में नया राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया था। बीजेपी का आरोप था कि नीतीश सरकार के इशारे पर जिलाधिकारी दिवेश सेहरा ने ऐसा किया था। वहीँ बाद में मोदी की इस रैली के लिए बीजेपी को मंजूरी मिल गया था। आज तो समय बदल चुका है, सभी एक साथ है।

*विवादों से गहरा नाता रहा है :-*

समस्तीपुर के नए जिलाधिकारी पहले भी विवादों में रह चुके हैं। उनके ऊपर 2007 में एक कर्मचारी सुशील ने केस दर्ज कराया था। उस समय दिवेश सेहरा गया जिला में पदस्थापित थे। सुशील का आरोप था कि सेहरा ने कुछ मिनट लेट आने पर उससे सौ बार उठक-बैठक करने की सजा दीया था।

*कौन हैं देवेश:-*

दिवेश सेहरा 2005 के आईएएस अधिकारी हैं। वह मूल रूप से यूपी के निवासी हैं। उनकी शुरुआती पढ़ाई-लिखाई केरल में हुई है। वह कोट्टायम की महात्मा गांधी यूनिवर्सिटी से फर्स्ट डिविजन के साथ इकोनॉमिक्स में ग्रैजुएट हैं। उन्होंने केंद्रीय विद्यालय से अपनी शुरुआती पढ़ाई कीया है। सिविल सेवा में आने से पहले देवेश, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया में भी काम कर चुके हैं। उनकी पत्नी का नाम दीपा कोट्टुरी सेहरा है।

 295 total views,  2 views today