*मध्य प्रदेश में पत्रकार भी असुरक्षा और भय के बीच जीवन गुजार रहें है, महिला पत्रकार के पुत्र तीन दिन से गुम, आईजी ने कठोर कारवाई करने का दिए निर्देश।*

🔊 Listen This News   झंझट टाइम्स न्यूज़ डेस्क। भोपाल:- मध्य प्रदेश में पत्रकारों की स्थिति दिन प्रतिदिन चिंतनीय होती जा रही। पिछले 15 वर्षो में पत्रकारों की हत्या, हत्या के अंडे बाजी, रंग दारी और प्रताड़ना की घटनाऐं विकराल रूप धारण करती जा रही है। पिछ्ले 15 वर्षो के अंतराल में हमने अपने कई […]

 160 total views,  1 views today

 

झंझट टाइम्स न्यूज़ डेस्क।

भोपाल:- मध्य प्रदेश में पत्रकारों की स्थिति दिन प्रतिदिन चिंतनीय होती जा रही। पिछले 15 वर्षो में पत्रकारों की हत्या, हत्या के अंडे बाजी, रंग दारी और प्रताड़ना की घटनाऐं विकराल रूप धारण करती जा रही है। पिछ्ले 15 वर्षो के अंतराल में हमने अपने कई क्रांतिकारी पत्रकार खो दिए जो भ्रष्टाचार, भू माफ़िया, रेतमाफ़िया, खदान माफ़िया के खिलाफ आवाज उठाने के बदले असमय मारे गए पत्रकार। वहीँ वर्तमान समय में भी मध्य प्रदेश के पत्रकार भी असुरक्षा और भय के बीच जीवन गुजार रहें है। दुर्भाग्यवश नयी सरकार भी घोषणा के बावजूद पत्रकार सुरक्षा क़ानून लागू नही करा सकी, जो चिंतनीय और खेद का विषय है। बहरहाल ताज़ा मामला महिला पत्रकार एवं अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति भारत की राष्ट्रीय सचिव सरोज जोशी अपने एकलौते पुत्र ऋषभ के साथ तीन दिन से कहीं खो गई है। उनके मोबाईल नंबर पर सूचना -98260-73771
62651-55486
ऋषभ 99810-66515 भी पिछले तीन दिन से (बन्द) स्वीच ऑफ है। इस संबंध में आज एबीपीएसएस के प्रतिनिधि मंडल नवागत आईजी योगेश देशमुख से मिला और पुरी स्थिति से अवगत कराया जहाँ उन्होने डीआईजी इरशाद वली को उचित और कठोर कारवाई करने का निर्देश दिए है।

*आखिर कारण क्या है:–*

वर्ष 2016 में सरोज जोशी के बर्खास्त पुलिस अधिकारी अमिताभ प्रताप सिंह के घर में बतौर किरायेदार रहने के दौरान अमिताभ प्रताप की पत्नी सोनाली सिंह व उसके भाई ने अमिताभ प्रताप पर प्राणघातक हमला किया था। उस समय सरोज जोशी और उनका पुत्र चश्मदीद गवाह बन गए और अमिताभ की जान बचाकर हॉस्पिटल ले गए थे। उस मामलें में 2018 में सोनाली सिंह को जेल जाना पढ़ा था, और तबसे सोनाली सिंह सरोज जोशी से रंजिश हो गया था। अमिताभ प्रताप सिंह की मददगार और शुभ चिंतक होने के बदले सोनाली सिंह ने सरोज जोशी और उनके पुत्र के विरुध्द टीटी नगर, श्यामला हिल्स जहागिराराबाद, रातीबढ थानों में कई झूटे मुक़दमे दर्ज कराएं थे। सूत्रों से मिली जानकारी प्राप्त हुई है कि उनको लगातार जान से मारने की धमकी दी जा रही थी। किसी व्यक्ति ने सरोज जोशी से मुलाकात के बाद बताया था कि उसको 10 लाख रूपये की फिरौती सरोज जोशी और उनके पुत्र के नाम की दी गई है। पिछ्ले 3 माह से वह बेहद मानसिक पीड़ा का सामना कर रही है। वहीँ पत्रकार कुछ दिनों से ला पाता है।

 161 total views,  2 views today