समाज की तस्वीर और तकदीर बदलने के लिए महिला जागृति आवश्यक: डॉ मुश्ताक

🔊 Listen This News अल्पसंख्यक कोचिंग राष्ट्र की मुख्यधारा से जोड़ने की एक पहल: वसीम सीएम कॉलेज दरभंगा में निशुल्क कोचिंग का उद्घाटन दरभंगा बिहार::- देश के अल्पसंख्यक वर्ग के विकास के लिए अनेक प्रकार के कदम उठाए जा रहे हैं और उनमें निःशुल्क कोचिंग की व्यवस्था सबसे अहम है क्योंकि इस कोचिंग के माध्यम […]

 230 total views,  1 views today

अल्पसंख्यक कोचिंग राष्ट्र की मुख्यधारा से जोड़ने की एक पहल: वसीम

सीएम कॉलेज दरभंगा में निशुल्क कोचिंग का उद्घाटन

दरभंगा बिहार::-
देश के अल्पसंख्यक वर्ग के विकास के लिए अनेक प्रकार के कदम उठाए जा रहे हैं और उनमें निःशुल्क कोचिंग की व्यवस्था सबसे अहम है क्योंकि इस कोचिंग के माध्यम से अल्पसंख्यक वर्ग राष्ट्र की मुख्यधारा से जुड़ेंगे। उक्त बातें वसीम अहमद, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी, दरभंगा ने कही। श्री वसीम स्थानीय सीएम कॉलेज दरभंगा में रेलवे, बैंकिंग, कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा की तैयारी के लिए निःशुल्क अल्पसंख्यक कोचिंग के उद्घाटन सत्र पर मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। श्री वसीम ने कहा कि दरभंगा के छात्र-छात्राओं के लिए यह एक सुनहरा अवसर है और इस के लिए डॉ मुश्ताक अहमद, प्रधानाचार्य का प्रयास सराहनीय एवं अनुकरणीय है क्योंकि इसी प्रकार के ठोस कार्य से समाज का बदलाव संभव है। अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में प्रधानाचार्य डॉ मुश्ताक अहमद ने कहा कि शैक्षणिक संस्थानों पर कोचिंग की व्यवस्था समय की मांग है क्योंकि हमारा काम मात्र डिग्री देना नहीं है बल्कि छात्रों के भविष्य को भी उज्जवल बनाना है। डॉ मुश्ताक ने कहा कि निःशुल्क कोचिंग का उद्देश है कि अल्पसंख्यक समाज के आर्थिक दृष्टि से कमजोर छात्रों को सहायता करना। कोचिंग में प्रतियोगिता पर आधारित पुस्तक एवं अन्य पाठ्य सामग्री भी निःशुल्क दी जाती है। डॉ अहमद ने कहा कि कोचिंग के लिए 25 छात्राओं और 35 छात्रों का चयन हुआ है। डॉ अहमद ने कहा कि शैक्षणिक संस्थान समाज में लड़कियों की शिक्षा पर अधिक बल देने की आवश्यकता है क्योंकि महिला जागृति से ही किसी भी समाज की तकदीर और तस्वीर बदलती है। इस अवसर पर प्रो. विकास कुमार ने प्रतियोगिता के लिए समय प्रबंधन एवं डॉ ज़्या हैदर ने परीक्षा की तैयारी के लिए तनाव मुक्त रहने की सलाह दी। रियाज अहमद ने प्रतियोगिता परीक्षा की बारीकियों को बताया जबकि डॉ वजाहत ने सामान्य ज्ञान की महत्ता पर प्रकाश डाला। श्री नवनीत कुमार ने गणित एवं रिजनिंग की तैयारी के लिए गुड़ बताएं। डॉ आफताब अहमद, डॉ इरतेजा अहमद, डॉ संजय साहनी, प्रो. अमृत कुमार, मो० फखरूद्दीन, डॉ विजय सिंह पांडे, आदि ने आज के भूमंडलीकरण के युग में प्रतियोगिता परीक्षा के महत्व एवं आवश्यकता पर प्रकाश डाला। धन्यवाद ज्ञापन श्री विपिन कुमार सिंह ने किया।

 231 total views,  2 views today