समृद्धि माइक्रो फाइनेंस कम्पनी ग्रामीणों से लोन इंश्योरेंस के नाम पर चालीस लाख से उपर रूपये वसूली कर हुआ चम्पत, पीड़ितों ने किया सड़क के साथ मुफस्सिल थाने का घेराव रिपोर्ट:-सुरेश कुमार राय समस्तीपुर जिले के जितवारपुर स्थित कन्हैया चौक पर फर्जी संचालित कर रहे फायनेंस कम्पनी के द्वारा लाखों रूपये इंश्योरेंस के नाम पर वसूली कर चम्पत हो जाने का मामला सामने आया है । बताया जाता है समृद्धि माइक्रो फाइनेंस कम्पनी खोलकर जिले के सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के भोली भाली महिलाओं के ग्रुप बनाकर लोन देने लेने का धंधा धड़ल्ले से किया जा रहा था । इसी क्रम में फायनेंस कम्पनी के कर्मचारी अजय कुमार द्वारा अपने टीम के साथ भोली भाली ग्रामीण महिलाओं को अपना शिकार बनाया गया है । मुफस्सिल थाने पर सैकड़ों आक्रोशित महिलाओं ने अपने पति के साथ फायनेंस कम्पनी के कर्मचारी को पकड़ कर थाने को सौंपा है । उनलोगों ने बताया की हमलोगों को लोन देने के लिए लोन इंश्योरेंस के नाम पर हजारों रूपये की वसूली ग्रुप के सभी सदस्यों से किया गया । जिसके एवज में कम्पनी के कर्मी द्वारा एक कागज पर शाखा प्रबंधक की मुहर लगी ग्रुप की गठन करते हुए स1,00000.00 से लेकर 50,000/- रुपये प्रत्येक सदस्यों को देने की बात है। ग्रुप की टीम अलग अलग बनाते हुऐ लोन के इंश्योरेंस के नाम पर प्रति ग्रुप के सदस्यों से 2635/- रूपये व 1395/- रूपये वसूली किया गया और सांत्वना दिया की एक से दो घंटे में आप लोगों के बैंक खाते में लोन की राशि मिल जाऐगा। लेकिन रूपये खाते में नहीं आया । बाध्य होकर हमलोग जब सामूहिक रुप से आज फायनेंस कम्पनी के कर्मियों द्वारा बताए गए कार्यालय के पत्ते पर पहुंचे तो कार्यालय में ताला लगा हुआ मिला । इसके बाद कर्मचारी सहित शाखा प्रबंधक से संपर्क किया तो शाखा प्रबंधक का मोबाइल बंद मिला । उसके बाद हमलोगों के समूह को बनाने वाले कर्मचारी अजय कुमार को फोन कर बुलाया गया तो उसके द्वारा अस्पष्ट जबाव नहीं दिया जा रहा है । मालूम हो की माइक्रो फायनेंस कम्पनी जिसका वैध/अवैध निबंधन संख्या 169 126/206 के द्वारा जनता से लाखों रुपए की ठगी की गई है । मालूम हो की जिले के विभिन्न क्षेत्रों में समृद्धि माइक्रोफाइनेंस के द्वारा लोगों को झांसा देकर पहले ग्रुप बनाया गया । उसके बाद लोन लेने देने के नाम पर किसी से एक लाख के जगह पर ₹2635/ वहीं 50000/- की लोन के लिए 1395/- इंश्योरेंस के नाम पर वसूली कर लिया गया। जिससे विभिन्न प्रखंडों के 700 लोगों से ज्यादा महिलाएं प्रभावित हुई है । इन महिलाओं से इंश्योरेंस के नाम पर तकरीबन ₹40,00000.00 से अधिक की रकम की वसूली कर चंपत हो जाने की बात सामने आया हैं । आक्रोशित लोगों ने समृद्धि माइक्रो फायनेंस के एक कर्मी को अपने कब्जे में लेते हुए मुफस्सिल थाना में लाकर पुलिस को सौंपा है । भुक्तभोगी अंगारघाट थाने के डिहूली निवासी कंचन देवी – बबीता देवी ग्रुप की कुल 9 सदस्य का ग्रुप बनाया । जिसे 50000/- करके प्रत्येक का लोन का झांसा दिया गया । महिमा देवी- रीना देवी के ग्रुप के सदस्यों की संख्या 12 बताई गई है और इनलोगों का भी 50000/- प्रत्येक को लोन फाईनल दर्शाया गया है । इसके एवज में ₹1395/- ,रुपये प्रत्येक सदस्यों से वसूली की गई है ।इनलोगों का पहचान प्रमोद कुमार गिरी द्वारा किया गया । वहीं उजियारपुर थाना अंतर्गत लखनीपुर महेशपट्टी गांव के कुंवारी दिव्या रानी के कुल सदस्यों की संख्या 22 एवं 50000/- के राशि लोन के एवज में इंश्योरेंस के नाम पर 1395 रूपया लिया गया है । वहीं कल्याणपुर थाना क्षेत्र के निवासियों को भी झांसा देकर समिति माइक्रो फाइनेंस कंपनी के लोगों द्वारा करीब 12 सदस्यों के नाम पर 2635/- की राशि प्रत्येक सदस्य से इंश्योरेंस की वसूली की गई है । ₹100000 का लोन फाइनेंस का बताया गया है । सैकड़ों ग्रामीण मुफस्सिल थाना समस्तीपुर में पहुंचकर आरोपी ग्रुप के विरोध थाना में गुहार लगाते हुए रुपए वापसी की गुहार लगाई है । वहीं उजियारपुर थाना के अंतर्गत बेलारी गांव के अमृता देवी की ग्रुप संख्या 28 बनाया गया है जिसे दो ग्रुप में बांटा गया है जिसमें एक ग्रुप को 25 आदमी का ₹50000/- के दर से इंश्योरेंस की ₹1395 की वसूली की गई । वहीं तीन सदस्य से 100000/- लोन के नाम पर इंश्योरेंस के रूप में ₹2635 रुपये की राशि वसूली की गई । ताजुब की बात है की कैसे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को इनलोगों के द्वारा चकमा दिया जा रहा है । जिसके कारण भोली भाली ग्रामीण महिला शिकार हो रहे है समूह बनाने के नाम पर । आज मुफस्सिल थाना समस्तीपुर के प्रांगण में सैकड़ों महिला एवं पुरुष ने आकर समृद्धि माइक्रोफाइनेंस के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराते हुए 01 कर्मी को पकड़ कर थाना पुलिस को सौंपा है । वहीं थाने पर उपस्थित आक्रोशित महिलाओं सहित लोगों का कहना है कि थाने पर पहुंचे महिलाओं को पुलिसकर्मियों द्वारा धमकी मारने पीटने का भी दियाया जा रहा है । बताया जा रहा है कि अगर हो हंगामा करोगे तो महिला पुलिस को बुलाकर सभी को सीधा कर दिया जाएगा । इनलोगों के द्वारा मुफस्सिल थानाध्यक्ष के नाम इंश्योरेंस राशि के नाम पर 40,00000.00 से उपर की राशि की वसूली कर फायनेंस कर्मियों द्वारा कार्यालय को बंद फरार हो जाने का आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगाया गया है ।

🔊 Listen This News समस्तीपुर जिले के जितवारपुर स्थित कन्हैया चौक पर फर्जी संचालित कर रहे फायनेंस कम्पनी के द्वारा लाखों रूपये इंश्योरेंस के नाम पर वसूली कर चम्पत हो जाने का मामला सामने आया है । बताया जाता है समृद्धि माइक्रो फाइनेंस कम्पनी खोलकर जिले के सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के भोली भाली महिलाओं के […]

 523 total views,  1 views today

समस्तीपुर जिले के जितवारपुर स्थित कन्हैया चौक पर फर्जी संचालित कर रहे फायनेंस कम्पनी के द्वारा लाखों रूपये इंश्योरेंस के नाम पर वसूली कर चम्पत हो जाने का मामला सामने आया है । बताया जाता है समृद्धि माइक्रो फाइनेंस कम्पनी खोलकर जिले के सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के भोली भाली महिलाओं के ग्रुप बनाकर लोन देने लेने का धंधा धड़ल्ले से किया जा रहा था । इसी क्रम में फायनेंस कम्पनी के कर्मचारी अजय कुमार द्वारा अपने टीम के साथ भोली भाली ग्रामीण महिलाओं को अपना शिकार बनाया गया है । मुफस्सिल थाने पर सैकड़ों आक्रोशित महिलाओं ने अपने पति के साथ फायनेंस कम्पनी के कर्मचारी को पकड़ कर थाने को सौंपा है । उनलोगों ने बताया की हमलोगों को लोन देने के लिए लोन इंश्योरेंस के नाम पर हजारों रूपये की वसूली ग्रुप के सभी सदस्यों से किया गया । जिसके एवज में कम्पनी के कर्मी द्वारा एक कागज पर शाखा प्रबंधक की मुहर लगी ग्रुप की गठन करते हुए स1,00000.00 से लेकर 50,000/- रुपये प्रत्येक सदस्यों को देने की बात है। ग्रुप की टीम अलग अलग बनाते हुऐ लोन के इंश्योरेंस के नाम पर प्रति ग्रुप के सदस्यों से 2635/- रूपये व 1395/- रूपये वसूली किया गया और सांत्वना दिया की एक से दो घंटे में आप लोगों के बैंक खाते में लोन की राशि मिल जाऐगा। लेकिन रूपये खाते में नहीं आया । बाध्य होकर हमलोग जब सामूहिक रुप से आज फायनेंस कम्पनी के कर्मियों द्वारा बताए गए कार्यालय के पत्ते पर पहुंचे तो कार्यालय में ताला लगा हुआ मिला । इसके बाद कर्मचारी सहित शाखा प्रबंधक से संपर्क किया तो शाखा प्रबंधक का मोबाइल बंद मिला । उसके बाद हमलोगों के समूह को बनाने वाले कर्मचारी अजय कुमार को फोन कर बुलाया गया तो उसके द्वारा अस्पष्ट जबाव नहीं दिया जा रहा है । मालूम हो की माइक्रो फायनेंस कम्पनी जिसका वैध/अवैध निबंधन संख्या 169 126/206 के द्वारा जनता से लाखों रुपए की ठगी की गई है । मालूम हो की जिले के विभिन्न क्षेत्रों में समृद्धि माइक्रोफाइनेंस के द्वारा लोगों को झांसा देकर पहले ग्रुप बनाया गया । उसके बाद लोन लेने देने के नाम पर किसी से एक लाख के जगह पर ₹2635/ वहीं 50000/- की लोन के लिए 1395/- इंश्योरेंस के नाम पर वसूली कर लिया गया। जिससे विभिन्न प्रखंडों के 700 लोगों से ज्यादा महिलाएं प्रभावित हुई है । इन महिलाओं से इंश्योरेंस के नाम पर तकरीबन ₹40,00000.00 से अधिक की रकम की वसूली कर चंपत हो जाने की बात सामने आया हैं । आक्रोशित लोगों ने समृद्धि माइक्रो फायनेंस के एक कर्मी को अपने कब्जे में लेते हुए मुफस्सिल थाना में लाकर पुलिस को सौंपा है । भुक्तभोगी अंगारघाट थाने के डिहूली निवासी कंचन देवी – बबीता देवी ग्रुप की कुल 9 सदस्य का ग्रुप बनाया । जिसे 50000/- करके प्रत्येक का लोन का झांसा दिया गया । महिमा देवी- रीना देवी के ग्रुप के सदस्यों की संख्या 12 बताई गई है और इनलोगों का भी 50000/- प्रत्येक को लोन फाईनल दर्शाया गया है । इसके एवज में ₹1395/- ,रुपये प्रत्येक सदस्यों से वसूली की गई है ।इनलोगों का पहचान प्रमोद कुमार गिरी द्वारा किया गया । वहीं उजियारपुर थाना अंतर्गत लखनीपुर महेशपट्टी गांव के कुंवारी दिव्या रानी के कुल सदस्यों की संख्या 22 एवं 50000/- के राशि लोन के एवज में इंश्योरेंस के नाम पर 1395 रूपया लिया गया है । वहीं कल्याणपुर थाना क्षेत्र के निवासियों को भी झांसा देकर समिति माइक्रो फाइनेंस कंपनी के लोगों द्वारा करीब 12 सदस्यों के नाम पर 2635/- की राशि प्रत्येक सदस्य से इंश्योरेंस की वसूली की गई है । ₹100000 का लोन फाइनेंस का बताया गया है । सैकड़ों ग्रामीण मुफस्सिल थाना समस्तीपुर में पहुंचकर आरोपी ग्रुप के विरोध थाना में गुहार लगाते हुए रुपए वापसी की गुहार लगाई है । वहीं उजियारपुर थाना के अंतर्गत बेलारी गांव के अमृता देवी की ग्रुप संख्या 28 बनाया गया है जिसे दो ग्रुप में बांटा गया है जिसमें एक ग्रुप को 25 आदमी का ₹50000/- के दर से इंश्योरेंस की ₹1395 की वसूली की गई । वहीं तीन सदस्य से 100000/- लोन के नाम पर इंश्योरेंस के रूप में ₹2635 रुपये की राशि वसूली की गई । ताजुब की बात है की कैसे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को इनलोगों के द्वारा चकमा दिया जा रहा है । जिसके कारण भोली भाली ग्रामीण महिला शिकार हो रहे है समूह बनाने के नाम पर । आज मुफस्सिल थाना समस्तीपुर के प्रांगण में सैकड़ों महिला एवं पुरुष ने आकर समृद्धि माइक्रोफाइनेंस के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराते हुए 01 कर्मी को पकड़ कर थाना पुलिस को सौंपा है । वहीं थाने पर उपस्थित आक्रोशित महिलाओं सहित लोगों का कहना है कि थाने पर पहुंचे महिलाओं को पुलिसकर्मियों द्वारा धमकी मारने पीटने का भी दियाया जा रहा है । बताया जा रहा है कि अगर हो हंगामा करोगे तो महिला पुलिस को बुलाकर सभी को सीधा कर दिया जाएगा । इनलोगों के द्वारा मुफस्सिल थानाध्यक्ष के नाम इंश्योरेंस राशि के नाम पर 40,00000.00 से उपर की राशि की वसूली कर फायनेंस कर्मियों द्वारा कार्यालय को बंद फरार हो जाने का आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगाया गया है ।

 524 total views,  2 views today