जागरूकता अभियान को सफलता के लिए पत्र जारी कर प्रचार-प्रसार कर की अपील। रमेश शंकर झा समस्तीपुर बिहार।

    रमेश शंकर झा समस्तीपुर बिहार। समस्तीपुर:- विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून को पर्यावरण बचाने के सबसे महत्वपूर्ण कार्य पेड़-पौधे लगाने और बचाने के प्रति सरकार उदासीन है। ऐसी स्थिति में आइसा-इनौस ने सरकार, अधिकारी, सामाजिक-राजनीतिक-व्यवसाई सहित अन्य सभी संगठनों, आमजनों के नाम खुलापत्र जारी किया है। वहीँ आइसा जिला अध्यक्ष सुनील कुमार एवं […]

 

 

रमेश शंकर झा
समस्तीपुर बिहार।

समस्तीपुर:- विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून को पर्यावरण बचाने के सबसे महत्वपूर्ण कार्य पेड़-पौधे लगाने और बचाने के प्रति सरकार उदासीन है। ऐसी स्थिति में आइसा-इनौस ने सरकार, अधिकारी, सामाजिक-राजनीतिक-व्यवसाई सहित अन्य सभी संगठनों, आमजनों के नाम खुलापत्र जारी किया है। वहीँ आइसा जिला अध्यक्ष सुनील कुमार एवं इनौस सह माले नेता सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने खुलापत्र जारी करते हुए सभी संगठनों एवं आमजनों से पर्यावरण दिवस के अवसर पर अधिक से अधिक पेड़-पौधे लगाने- इसे बचाने की दिशा में आगे बढ़ने की अपील कीया है। इसको लेकर तीन दिनी जागरूकता अभियान भी शुरू किया गया है। इसके तहत स्कूल, कोचिंग, काँलेज, मुहल्ले में जाकर खाली जमीन, सड़क किनारे, मैदान, अपने परिसर, आँफिस आदि जगहों पर अधिक से अधिक पेड़ लगाने-बचाने की अपील कीया जा रहा है। वहीँ माले नेता सुरेंद्र ने कहा कि पर्यावरण ही जीवन है, पेड़-पौधे वाले क्षेत्रों में वर्षा भी अधिक होती है पर इस ओर सरकार की बेरुखी समझ से पड़े हैं। फालतू कार्यक्रमों के प्रचार-प्रसार पर अरबों-खरब खर्च करने वाली सरकार इस कार्य हेतु जागरूकता अभियान तक नहीं चला पाई है। अभी तो कुंआ, तालाब और चापाकल ही सुखे हैं, अगर हम अभी भी सचेत नहीं हुए तो आने वाले दिनों में सबमर्सिबल भी सुखने लगेंगे। इसका फौरी निदान बड़े पैमाने पर पेड़-पौधे लगाना और बचाना है। ऐसी स्थिति में तमाम संगठन एवं आमजनों को आगे आकर इस प्रचार-प्रसार कर वृक्षारोपण एवं पर्यावरण बचाओ अभियान को सफल बनाना चाहिए।