भारत और अमेरिका के बीच बढ़ते संबंध को लेकर चीन बॉर्डर पर अधिक आक्रामक है?

भारत और अमेरिका के बीच बढ़ते संबंध को लेकर चीन बॉर्डर पर अधिक आक्रामक है?

जे. टी. न्यूज

भारत और चीन के बीच बॉर्डर पर तनाव बना हुआ है। 13वीं दौर की वार्ता के बाद भी दोनों पक्ष किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सके हैं। पेट्रोलिंग पॉइंट 15 और हॉट स्प्रिंग जैसे इलाकों में दोनों देशों ने अपने सैनिक बढ़ा दिए हैं। हालांकि दोनों पक्ष अगले दौर की वार्ता को लेकर सहमत हो गए हैं लेकिन दोनों देशों के अलग-अलग बयान बताते हैं कि गतिरोध जारी है।

 

भारतीय पक्ष का कहना है कि चीन अब उन क्षेत्रों तक भारत को पहुंचने से रोक रहा है जहां भारत नियमित रूप से गश्त लगाता रहा है। डेमचोक इलाके में घुसपैठ के बाद से भारतीय सेना चारडिंग नाले के पार गश्त नहीं कर पा रही है। चीनी सैनिक बाराहोटी के मैदानों और तवांग ट्रैक्ट में घुसपैठ करने की कोशिश की है लेकिन भारतीय सैनिकों द्वारा रोके जाने के बाद वापस चले गए हैं। चीन लाइन ऑफ़ एक्चुअल कंट्रोल के पास सैनिकों की तैनाती को लगातार बढ़ा रहा है और लगातार स्थायी ढांचा बना रहा है। अपुष्ट रिपोर्ट्स बताती हैं कि अक्साई चिन में चीन ने रूसी विध्वंसक मिसाइल S-400 भी तैनात कर रखे हैं। भारतीय सेना का कहना है कि चीनी सैनिक यहां रहने के मकसद से आए हैं। हम सभी घटनाक्रम पर नजर रखे हुए हैं। अगर वे यहां रहने को आए हैं तो हम भी वहां रहने के लिए हैं।

 98 total views,  4 views today