भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, क्षेत्रीय केंद्र पुसा बिहार में व्यापक भ्रष्टाचार और लूट।

🔊 Listen This News भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, क्षेत्रीय केंद्र पुसा बिहार में व्यापक भ्रष्टाचार और लूट महताब आलम समस्तीपुर::- समस्तीपुर जिले के पूसा स्थित भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान ,क्षेत्रीय केंद्र पूसा में बड़े पैमाने पर सरकारी संस्थान का दुरुपयोग लूट खसोट और भ्रष्टाचार एवं किसानों के साथ दुर्व्यवहार कार्यशैली क्रियाकलाप का उच्च स्तरीय जांच […]

 803 total views,  1 views today

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, क्षेत्रीय केंद्र पुसा बिहार में व्यापक भ्रष्टाचार और लूट
महताब आलम

समस्तीपुर::- समस्तीपुर जिले के पूसा स्थित भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान ,क्षेत्रीय केंद्र पूसा में बड़े पैमाने पर सरकारी संस्थान का दुरुपयोग लूट खसोट और भ्रष्टाचार एवं किसानों के साथ दुर्व्यवहार कार्यशैली क्रियाकलाप का उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की गई। आज यहां हरपुर महमदा पैक्स के अध्यक्ष राजीव कुमार, पूर्व मुखिया नथुनी पासवान, रंजीत, कुमार झा पैक्स उपाध्यक्ष हरपुर महमदा ,सरपंच, संयुक्त रूप से भारत के प्रधानमंत्री, महानिदेशक, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली, निर्देशक भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, दिल्ली को लिखे गए पत्र में कई बिंदुओं पर इनकी ध्यान आकर्षित करते हुए कहा है कि उनके क्रियाकलापों की जांच एवं पदस्थापन के बाद से अरबों रुपए की हेराफेरी किए जाने की जांच कराने का अनुरोध किया है

केंद्र पुसा बिहार में हो रहे लगातार किसानों के साथ दुर्व्यवहार के खिलाफ उच्च स्तरीय मांगो कों लेकर पुसा के मकामी लोग जिनमें रंजीत कुमार,पुसा के सरपंच,पुसा पैक्स अध्यक्ष राजीव कुमार,आदि का कहना है कि आए दिन इस कृषि अनुसन्धान संस्थान में भ्रष्टाचार बढ़ती ही जा रही है ,इनके अनुसार कृषि केंद्र के प्रभारी अध्यक्ष श्री कुमार कान्त राय प्राइवेट बीज कंपनी के मेल जोल में आकर सरकारी बीज को मोटी रकम में बेच दिया करते हैं जिस कारण मकामी किसानों को इसका कोई भी लाभ आज तक नहीं मिल पाया है
और इन्हीं काले धन की बदौलत वर्तमान प्रभारी श्री कुमार कांत राय अपने लड़के की उच्च स्तरीय कि पढ़ाई यूक्रेन में कराते हैं और बड़े बड़े आलीशान मकान भी बनवाए हैं इतना ही नहीं बल्कि विधवा महिलाओं के साथ शारीरिक शोषण आौर रोजगार के नाम पर अपने घर बुलाकर शोषण किया करते हैं
ज्ञात हो कि पूर्व में इसी भ्रष्टाचार के मामले में कुलपति श्री मेवालाल चौधरी को दोषी पाकर जेल भेजा गया है।जिससे ये साफ तौर पे पता चलता है कि इस कृषि केंद्र में पूर्व से ही घोटाले और भ्रष्टाचार हो रहे थे। इसलिए मकामी किसानों और जनता की अपील है। कि वर्तमान प्रभारी श्री कुमार कांत राय और कृषि संस्थान पुसा बिहार के विरूद्ध कड़ी से कड़ी जांच करवाई जाए और नए प्रभारी की नियुक्ती की जाए।

 804 total views,  2 views today