*समाहरणालय के सभाकक्ष में षष्टम वित्त राज्य आयोग की बैठक का आयोजन। राजकुमार राय/राजेश कुमार वर्मा, समस्तीपुर बिहार। सब पे नजर, सबकी खबर।*

🔊 Listen This News राजकुमार राय/राजेश कुमार वर्मा समस्तीपुर बिहार। समस्तीपुर:- जिले के समाहरणालय सभाकक्ष में आज षष्ठम वित्त राज्य आयोग की एक बैठक किया गया। वहीँ आयोग के अध्यक्ष नवीन कुमार की अध्यक्षता में बैठक आयोजित किया गया। इस बैठक में जिला परिषद अध्यक्ष प्रेमलता, जिलाधिकारी शशांक शुभंकर, उप विकास आयुक्त वरुण कुमार मिश्रा, […]

 369 total views,  1 views today

राजकुमार राय/राजेश कुमार वर्मा
समस्तीपुर बिहार।

समस्तीपुर:- जिले के समाहरणालय सभाकक्ष में आज षष्ठम वित्त राज्य आयोग की एक बैठक किया गया। वहीँ आयोग के अध्यक्ष नवीन कुमार की अध्यक्षता में बैठक आयोजित किया गया।
इस बैठक में जिला परिषद अध्यक्ष प्रेमलता, जिलाधिकारी शशांक शुभंकर, उप विकास आयुक्त वरुण कुमार मिश्रा, आयोग के सदस्य नवीन चंद्र झा, पंचायत राज विभाग से ओमप्रकाश यादव, डी पी आर ओ अनुग्रह नारायण सिंह, डी आर डी ए निदेशक पूनम कुमारी, जिलापार्षद संजय कुमार सिंह, स्वर्णिमा सिंह, हरेराम सहनी, रंजन कुमार, रिंकू कुमारी, वालेश्वर प्रसाद सिंह, प्रखंड प्रमुख, रिंकी कुमारी, कन्हैया चौधरी, निर्मला किशोर सहित जिले के मुखिया ने भाग लिया।

बैठक में आयोग के अध्यक्ष नवीन कुमार ने सरकार द्वारा चलाये जाने वाली षष्टम वित्त राज्य आयोग से शुरू होने वाली योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दिया। जिसपर सदन में अपनी राय रखते हुए जिप अध्यक्ष प्रेमलता ने कहा कि पंचम वित्त राज्य आयोग से ग्राम पंचायत को 70 प्रतिशत, पंचायत समिति को 10 प्रतिशत एवं जिलापरिषद को 20 प्रशिक्षत राशि की हिस्सेदारी थी। इस हिस्सेदारी से पंचायत समिति एवं जिलापरिषद द्वारा जनहित में कार्य करने में कठिनाई महसूस होती है। अतः षष्टम वित्त राज्य आयोग से मिलने वाली राशि में ग्राम पंचायत को 50 प्रतिशत, पंचायत समिति को 20 प्रतिशत एवं जिलापरिषद को 30 प्रतिशत की हिस्सेदारी हो, साथ ही कहा कि कॉन्टिजेंसी मद, रख रखाव मद व मरम्मती मद का प्रावधान पूर्व के किसी योजनाएं मे निहित नही है।

अतः इस योजना में उक्त का अलग से प्रावधान किया जाय। ताकि छोटे छोटे मर्राम्मती का कार्य किया जा सके। उन्होंने कहा कि माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में छात्र छात्राओं के शुद्ध पेयजल के लिए वाटर प्यूरीफायर सह कूलिंग मशीन के साथ-साथ छात्राओं के लिए सैनेट्री पैड का ए टी एम मशीन लगाने का प्रावधान करने की मांग अध्यक्ष से किया। जिप अध्यक्ष ने बताया कि सरकार जनसंख्या के आधार पर 7.5 प्रतिशत हिस्सेदारी पंचम वित्त में देती है। त्रिस्तरीय पंचायती राज्य संस्था के लिए इसे बढ़ाकर 15 प्रतिशत करने की मांग किया, जिसपर उपस्थित सभी जनप्रतिनिधियों ने अपनी सहमति जताया।

 370 total views,  2 views today