समस्तीपुर जिले के बिहार पुलिस के दामन पर लगा बदनुमा दाग , जिला पुलिस प्रशासन हुआ शर्मसार

🔊 Listen This News समस्तीपुर जिले के बिहार पुलिस के दामन पर लगा बदनुमा दाग , जिला पुलिस प्रशासन हुआ शर्मसा समस्तीपुर, बिहार::-समस्तीपुर जिले के बिहार पुलिस के कुकृत्य के कारण जिला पुलिस प्रशासन पर लगा बदनुमा दाग से जिला पुलिस प्रशासन हुआ शर्मसार । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार समस्तीपुर जिले दलसिंहसराय अनुमंडल […]

 380 total views,  1 views today

समस्तीपुर जिले के बिहार पुलिस के दामन पर लगा बदनुमा दाग , जिला पुलिस प्रशासन हुआ शर्मसा

समस्तीपुर, बिहार::-समस्तीपुर जिले के बिहार पुलिस के कुकृत्य के कारण जिला पुलिस प्रशासन पर लगा बदनुमा दाग से जिला पुलिस प्रशासन हुआ शर्मसार । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार समस्तीपुर जिले दलसिंहसराय अनुमंडल अन्तर्गत घटहो थाना में तैनात दरोगा वेदानंद चौधरी ने नशे की हालत में एक नाबालिग लड़की से छेड़खानी की ।

जिससे बिहार पुलिस के दामन पर एक बार फिर से बदनुमा दाग लग गया है । बताया जाता है कि थाने में तैनात दरोगा वेदानंद चौधरी शराब के नशे में लिप्त थे । शराबी दरोगा ने थाना परिसर में ही एक नाबालिक लड़की के साथ छेड़खानी की ।

शराबी दरोगा की इस हरकत की जानकारी थाने में तैनात अन्य पुलिसकर्मियों को मिली । जिसके बाद मामला जिले के वरीय अधिकारियों तक पहुंचा । इस बात की जानकारी स्थानीय लोगों में फैलते ही दरोगा की इस हरकत से लोगों में गुस्सा व्याप्त हो गया । स्थानीय लोगों के आक्रोश को देखते हुए दरोगा वेदानंद चौधरी का मेडिकल टेस्ट कराया गया ।

जिसमें इस बात की पुष्टि हो गई कि दरोगा ने शराब पी रखी थी । शराब पीने की पुष्टि होने के साथ ही दरोगा वेदानंद चौधरी को तत्काल हिरासत में लेते हुए घटहो थाना के हाजत में बंद कर दिया गया । इस घटना से खाकी वर्दी पर एक बार फिर से सवाल खड़े हो गए हैं ।ज्ञात हो की बिहार के डीजीपी , के साथ ही मुख्यमंत्री महोदय लगातार समाचार पत्रों के माध्यम से एवं सोशल मीडिया के माध्यम से यह कहते रहे हैं कि पुलिस वाले अपनी छवि को साफ रखें ।

लेकिन उनकी अपील अब तक बेअसर नजर आ रही है । जिसके कारण सुरक्षा में तैनात अधिकारी नशे में तैनात होकर अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं । यह केवल एक थाने की बात नहीं बल्कि बिहार के अधिकांश थाने में इस तरह की हरकत होती रहती है परंतु पुलिस के आला अधिकारी में भी अधिकांश लोगों की चरित्र इसी तरह के होने के कारण मामला ठंडा अवस्था में चला जाता है. समस्तीपुर पुलिस लाइन में भी दारू के बोतल देखने को मिला है परंतु पुलिस प्रशासन मौन साथ लिए हुए हैं किसी भी थाना में चले जाएं अगल बगल में और थानेदार के कमरे में दारू का बोतल देखने को मिल सकता है. सोचनीय विषय यह है कि जब रक्षक ही देश के रक्षक ही भक्षक हो जाए तो देश की जनता का हाल क्या होगा..???

 381 total views,  2 views today