नशे का मुख्य केंद्र बन रहा है अररिया जिला के जोगबनी भारत नेपाल सीमा। राजेश कुमार शर्मा बिहार डेस्क

🔊 Listen This News     राजेश कुमार शर्मा बिहार डेस्क जोगबनी:-लोकसभा चुनाव को लेकर जहाँ अररिया जिला पुलिस सतर्क चुस्त होने का दावा कर रही है। वहीँ इन सभी को धत्ता बताते हुए नशीली दवा के तस्कर आराम से नशीली दवा का मुख्य बाजार कहे जाने वाला टिकुलिया बस्ती, जोगबनी हटिया से खुले आम […]

 344 total views,  1 views today

 

 

राजेश कुमार शर्मा
बिहार डेस्क

जोगबनी:-लोकसभा चुनाव को लेकर जहाँ अररिया जिला पुलिस सतर्क चुस्त होने का दावा कर रही है। वहीँ इन सभी को धत्ता बताते हुए नशीली दवा के तस्कर आराम से नशीली दवा का मुख्य बाजार कहे जाने वाला टिकुलिया बस्ती, जोगबनी हटिया से खुले आम नशीली दवा की खरीदारीकर सिमा पार हो जा रहा है। वह भी जब सिमा को सील कर, आने जाने वालों को चेक और जाँच करने का दावा किया जा रहा है। बिहार पुलिस की पोल खुलती तब नजर आती है जब तस्करी कर नेपाल में, नेपाल के युवक जोगबनी से नशीली दवा की खरीदारी कर ले जा रहा था। वह भी नेपाल पुलिस के हत्थे चढ़ेने के बाद पोल खुला। बातदे कि चार किलो गाँजा के साथ मोरंग पुलिस ने जहदा गाउँपालिका–1 के 39 वर्षीय दिनेश राजभर को बॉर्डर से सटे खोखसाह से गिरफ्तार किया। इस इलाका के पुलिस कार्यालय रानी के पुलिस निरीक्षक इन्द्रबहादुर राना से मिली जानकारी के अनुसार भारत नेपाल सीमा से सटे खोक्सा में झोला में गाँजा रख कर भारत के तरफ जा रहे राजभर को गिरफ्तार किया गया है। मोरङ पुलिस प्रवक्ता डीएसपी घनश्याम श्रेष्ठ ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि राजभर के विरुद्ध नशीली दवा कानून के अन्तर्गत का मामला दर्ज किया गया है। वहीँ श्रेष्ठ ने जानकारी देते हुए कहा कि नेपाल के पूर्वी पहाडी जिला में उत्पादित गाँजा विभिन्न नाका होते हुए भारत ले जाने के कार्य मे राजभर का संलग्नता होने का दावा नेपाल पुलिस का है ।

*घटना नंबर:–2*

भारत नेपाल सीमा से सटे विराटनगर महानगरपालिका के जतुवा नहर पर तैनात पुलिस कर्मी के द्वारा शंका होने पर चेक करने के क्रम में जोगबनी से नेपाली नशीली दवाओं की तस्करी कर ले जा रहे नेपाल के झापा बिर्तामोड नगरपालिका के 19 वर्षीय धिरज थापा के साथ नियन्त्रित नशीली दवा नाइट्राभेट 240 पीस के साथ गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार युवक ने बताया कि जोगबनी के टिकुलिया बस्ती से उक्क्त नशीली दवा को खरीद कर ले जा रहा था।

*लोगो को है डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से उम्मीद।*

बिहार पुलिस के मुखिया डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय खुद नशा बिरुद्ध अभियान चलाते है श्री पाण्डेय जिस तरीके आम जन की बात को गंभीरता से लेते है लोगो को काफी उम्मीद है कि सीमांचल में नशे के लिए बदनाम इस इलाके से कारोबार को समाप्त करेंगे।

 345 total views,  2 views today