लोकतंत्र के हत्यारे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कार्यक्रम बहिष्कार करने का फैसला पत्रकारों ने लिया

🔊 Listen This News लोकतंत्र के हत्यारे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कार्यक्रम बहिष्कार करने का फैसला पत्रकारों ने लिय। आरके राय समस्तीपुर समस्तीपुर:- जिले के स्थानीय समाचार पत्र के संपादक एवं पत्रकारों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समस्तीपुर जिले के सरायरंजन प्रखंड के नरघोघि गांव स्थित मठ के जमीन में मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल तथा […]

 472 total views,  1 views today

लोकतंत्र के हत्यारे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कार्यक्रम बहिष्कार करने का फैसला पत्रकारों ने लिय

आरके राय
समस्तीपुर

समस्तीपुर:- जिले के स्थानीय समाचार पत्र के संपादक एवं पत्रकारों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समस्तीपुर जिले के सरायरंजन प्रखंड के नरघोघि गांव स्थित मठ के जमीन में मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल तथा इंजीनियरिंग कॉलेज के शिलान्यास के कार्यक्रम को समस्तीपुर के पत्रकारों ने बहिष्कार करने का फैसला किया है। उक्त फैसला मुख्यमंत्री द्वारा भारतीय चिकित्सा परिषद के नियम को ताक पर रखकर मनमाने ढंग से समस्तीपुर जितवारपुर हाउसिंग बोर्ड के जमीन से स्थानांतरण कर कुछ लोगों को खुश करने के उद्देश्य से राजनीतिक रोटी सेकने के लिए यह कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

वहीँ मुख्यमंत्री पर समस्तीपुर बिहार के जनता के साथ धोखा बाजी करने को लेकर पत्रकारों ने भी ठगने का आरोप लगाया है। उन्होंने मुख्यमंत्री पर जनता के कमाई को लूटने का भी आरोप लगाया है।

इस बैठक के मौके पर मोबाइल वाणी संवाददाता सह आईपीएन के उपसंपादक वन्दना झा, मिथिला सिटी न्यूज़ के संपादक राजेश कुमार झा, जनक्रांति के संपादक राजेश कुमार वर्मा, दूर देहात के संपादक विकास कुमार, सन ज्योति के संपादक अमर कांत मिश्रा, सन ज्योति के समाचार संपादक जयशंकर प्रसाद सिंह, आईपीएन के संपादक आर० एस० झा, बिहार के दीपक के संपादक दीपक प्रसाद गुप्ता, पीएमपी इंडिया न्यूज़ के राज कुमार रोशन, सिटीजन आवाज के रौशन कुमार चौधरी, झंझट टाइम्स के संपादक आर० के० राय के अलावे दर्जनों पत्रकार ने मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को बहिष्कार करने की फैसला किया है।

बैठक में मुख्यमंत्री पर लोकतंत्र की हत्या करने का आरोप लगाया है। बैठक में यह भी कहा गया है कि भारतीय चिकित्सा परिषद के नियमों के उल्लंघन करने का भी आरोप लगाया गया है। मुख्यमंत्री समस्तीपुर के आम जनताओं को धोखा देने के अलावा कई गंभीर आरोप भी लगाया गया है।

 473 total views,  2 views today