जिलाधिकारी द्वारा गुरुवारिय निरीक्षण कार्यक्रम के दौरान जलजमाव को लेकर आवश्यक निर्देश

जिलाधिकारी द्वारा गुरुवारिय निरीक्षण कार्यक्रम के दौरान जलजमाव को लेकर आवश्यक निर्देश
जे टी न्यूज़

समस्तीपुर: जिलाधिकारी द्वारा गुरुवारिय निरीक्षण कार्यक्रम के तहत सर्वप्रथम बाजार समिति के पास मेन गेट के पास वर्षा के पानी से जलजमाव व कीचड़ की समस्या को देखते हुए जिला कृषि पदाधिकारी एवं कार्यपालक अभियंता पथ निर्माण विभाग को आपस में समन्वय स्थापित कर उस जगहों पर पेवर ब्रिक्स या ढलाई कर रोड के दोनों साइड पक्की करण करने हेतु निर्देशित किया गया एवं शेष बचे हुए खाली एरिया को पार्किंग जोन व अन्य कमर्शियल कार्य हेतु प्रयोग में लाने का निर्देश दिया गया।

कल्याणपुर प्रखंड अंतर्गत मुक्तापुर पंचायत के वार्ड नंबर 11 में बन रहे कर्पूरी छात्रावास का निरीक्षण किया गया। जिसकी प्राक्कलित राशि 03 करोड़ 83 लाख रुपए बतलाई गई। प्रखंड विकास पदाधिकारी कल्याणपुर द्वारा बताया गया कि यह क्षेत्र अब नगर निकाय के अधिकार में आ गया है। यह एक बॉयज हॉस्टल के लिए बनाया जा रहा है, जोकि (G+1) बिल्डिंग के रूप में बनकर तैयार होगा। यह कुल 100 छात्रों की क्षमता के लिए बनाया जा रहा है। एजेंसी के कर्मी द्वारा बताया गया कि दिसंबर 2022 तक सभी कार्य पूर्ण कर लिए जाएंगे। जिलाधिकारी द्वारा कर्मियों को निर्देश दिया गया कि छात्रावास के चारों तरफ साइड से फुटपाथ बना दें, जिसमें सुबह व शाम में वॉकिंग किया जा सके एवं शेष खाली बचे जगहों पर बैडमिंटन कोर्ट व अन्य किसी खेलों के लिए बनाया जा सकता है।

रा० +2 श्री सुंदर उच्च विद्यालय मुक्तापुर का निरीक्षण किया गया।
निरीक्षण के क्रम में आज दसवीं कक्षा का परीक्षा चल रहा था। निरीक्षण के क्रम में पहली पाली की परीक्षा आयोजित की गई थी जिस में आज कुल 507 बच्चे उपस्थित पाए गए।
उपस्थिति पंजी के अनुसार स्कूल में कुल 31 शिक्षक नामांकित है। जिसमें कि आज उच्च माध्यमिक में 13 शिक्षक एवं माध्यमिक में 15 शिक्षक उपस्थित पाए गए। स्कूल के प्रधानाचार्य राधेश चंद्र झा द्वारा किसी भी प्रकार की समस्या नहीं बतलाई गई।

पंचायत भवन सोमनाहा, प्रखंड- कल्याणपुर का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के क्रम में पंचायत भवन काफी साफ सुथरा पाई गई। किसान सलाहकार, विकास मित्र, एवं अन्य उपस्थित पाए गए।


जिलाधिकारी द्वारा उपस्थित जनप्रतिनिधियों एवं पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि दीवार लेखन के माध्यम से वैसे पदाधिकारी जो दो या तीन पंचायत के प्रभार में है वह किस दिन यहां उपस्थित रहते हैं, उनका नाम, मोबाइल नंबर सहित दीवाल पर अंकित कराने का निर्देश दिया गया।
प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि इस पंचायत के मुखिया जी को इस पंचायत से संबंधित सभी कर्मचारी एवं पंचायत स्थित पदाधिकारी की सूची जल्द ही उपलब्ध करा दें।
श्यामल कुमार मंडल रोजगार सेवक से पृच्छा किए जाने पर संतोषप्रद जवाब नहीं दिया गया एवं किसी भी प्रकार का रिपोर्ट जिलाधिकारी के समक्ष प्रस्तुत नहीं किया गया, उन्हे सभी रिपोर्ट के साथ उपस्थित रहने का निर्देश दिया गया।

निरीक्षण के क्रम में आरटीपीएस काउंटर का निरीक्षण किया गया। जिस पर भोला दास नाम के कंप्यूटर ऑपरेटर उपस्थित थे, उनके द्वारा बताया गया कि आज 4 आवेदन जन्म प्रमाण पत्र बनाने से संबंधित प्राप्त हुआ है।
जिलाधिकारी द्वारा उपस्थित ग्रामीणों से किसी भी प्रकार की समस्या के बारे में पूछे जाने पर बताया गया कि आरटीपीएस काउंटर से संबंधित कोई समस्या नहीं है। कर्मी भी रोज उपस्थित रहते हैं। 1 सप्ताह में जन्म या मृत्यु प्रमाण पत्र बन के मिल जाता है।

मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना से निर्मित नल जल योजना का निरीक्षण किया गया। ग्राम पंचायत सोमनाहा, प्रखंड- कल्याणपुर, वार्ड नंबर- 15, में स्थित है।
वहां के विकास मित्र द्वारा बताया गया कि आई०ओ०टी० डिवाइस कुछ दिन पहले जल गया है। उपस्थित ग्रामीणों से पूछे जाने पर बताया गया कि पानी का फ़ोर्स अच्छा रहता है। दिन में तीन टाइम पानी दिया जाता है। नल जल योजना से संबंधित किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं है।

पूसा प्रखंड स्थित मोरसंड पंचायत में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत बिहार सरकार के जल जीवन हरियाली अभियान के तहत बिरौली कॉलेज के उत्तर फील्ड में मियावाकी पद्धति से कराए गए वृक्षारोपण कार्य का निरीक्षण किया गया।
निरीक्षण के क्रम में डीपीओ मनरेगा द्वारा बताया गया कि पांच यूनिट पौधा लगाया गया है, जो सभी प्रकार के है। जिसकी प्राक्कलित राशि 03 करोड़ 51 लाख ₹694 दर्शाया गया है। जिलाधिकारी द्वारा आम का पेड़ लगाकर वृक्षारोपण का कार्य किया गया।

ग्रामीण उच्चतर महाविद्यालय प्रतिष्ठान बिरौली का निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण के क्रम में उपस्थित प्रोफ़ेसर द्वारा बताया गया कि यहां तीन प्रोफ़ेसर कार्यरत हैं जो अनुबंध पर है।

स्कूल के बगल में स्थित लाइब्रेरी का भी निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के क्रम में लाइब्रेरियन द्वारा बताया गया कि अभी वर्तमान में लाइब्रेरी में कुल 12,784 किताबें उपलब्ध है।

 67 total views,  1 views today