दिल्ली अग्निकांड : समस्तीपुर के ब्रह्मपुरा में एक साथ दफनाये गये 11 शव, पूरा गांव रोया

🔊 Listen This News समस्तीपुर, सीतामढ़ी, सहरसा व अररिया में मजदूरों के शव पहुंचते ही मचा कोहराम  सहरसा पहुंचा एक शव, छह परिवारों के लोग अब भी कर रहे हैं अपनों  का इंतजार अररिया के भरगामा में बुधवार की देर रात पहुंचे दो मजदूरों के शव, मचा कोहराम रोसड़ा (समस्तीपुर) : दिल्ली की अनाज मंडी […]

 533 total views,  1 views today

समस्तीपुर, सीतामढ़ी, सहरसा व अररिया में मजदूरों के शव पहुंचते ही मचा कोहराम 
सहरसा पहुंचा एक शव, छह परिवारों के लोग अब भी कर रहे हैं अपनों  का इंतजार
अररिया के भरगामा में बुधवार की देर रात पहुंचे दो मजदूरों के शव, मचा कोहराम
रोसड़ा (समस्तीपुर) : दिल्ली की अनाज मंडी में पिछले रविवार को लगी आग में समस्तीपुर जिले के सिंघिया प्रखंड के तीन गांवों के 13 मजदूरों की मौत हो गयी थी. इनके शव मंगलवार की रात पैतृक गांव पहुंचे. शवों के पहुंचते ही परिजनों की चीख-पुकार से इलाका दहल गया. ब्रह्मपुरा गांव में शव को दफनाने के लिए 11 कब्र खोद कर रखे गये थे. रोसड़ा के बेहाली, हरिपुर व ब्रह्मपुरा एसडीओ कैंप कर रहे थे. बुधवार को अहले सुबह सभी शवों को दफना दिया गया.
गौरतलब है कि हरिपुर गांव के मो. मोती के पुत्र मो. छेदी, मो. उल्फत के दो पुत्र मो. साजिद एवं मो. वजीर, मो. मनसूर के पुत्र सदरे आलम, मो. फारुख के पुत्र मो. नौशाद, मो. हसन के पुत्र मो. अताउल, मो. रज्जाक के पुत्र, मो. अकबर, स्व. मो. आलम के पुत्र मो. गुड्डू, मो.मोहसिन के पुत्र मो. साजिद व ब्रह्मपुर गांव के मो. एनुल के पुत्र मो. सहमत एवं मो. इदरीश के पुत्र मो. महबूब एवं बेलाही गांव के मो. हाशिम के पुत्र मो. एहसान एवं मो.खालिद के पुत्र मो. शब्बीर की लाशें दिल्ली से लायी गयीं.
जवान बेटों के जनाजों को पिता ने दिया कंधा
शव आने के साथ ही उनके संस्कार की तैयारी शुरू हो गयी. लोग धर्मानुमसार सभी परंपराएं पूरी कीं. इसके बाद शव को कब्र के निकट ले जाने की बारी आयी. उस दृश्य को देखकर पत्थर दिल वालों का कलेजा भी कांप उठा. जवान बेटों को कंधा देने वाले पिता की आंखों के आंसू सूख चुके थे. अपनी किस्मत को कोस-कोस कर खुदा से अपनी खता पूछ रहे थे.
सहरसा : नरियार के मो फरीद व नवहट्टा के अफसाद के पहुंचे शव 
सहरसा. हादसे में नरियार के सात व नवहट्टा के एक युवक की मौत हो गयी थी. मंगलवार की रात नरियार के मो फरीद व नवहट्टा के अफसाद के शव गांव पहुंचे़  पूरे गांव में एक बार फिर मातमी सन्नाटा छा गया. अन्य छह मृतकों के परिवार शवों के पहुंचने का इंतजार कर रहे हैं. मो  फैसल, मो संजीम, मो अफजल, राशीद, ग्यासुद्दीन व संजार आजम के परिजनों ने  बताया कि दिल्ली से सातो शव को साथ आना था. लेकिन अब तक एक ही शव आया है.
सीतामढ़ी : शव पहुंचते ही घरों में मचा चीत्कार
बोखड़ा  (सीतामढ़ी). दिल्ली हादसे में मृत प्रखंड के बुधनगरा गांव निवासी मो  दुलारे राइन, गुलाब राइन एवं बोखड़ा गांव निवासी सनाउल्लाह व भाई  अयानतुल्लाह का शव बुधवार की रात पहुंचा. दुलारे की पत्नी अपने 18 दिन के  पुत्र को गोद में लेकर दहाड़ मारकर रोने लगी. वहीं, बोखड़ा प्रखंड क्षेत्र के दो लोगों के शव बुधवार को गांव लाये गये. इससे माहौल गमगीन हो गया.
अररिया : अयूब व जाहिद को आज दी जायेगी मिट्टी 
भरगामा प्रखंड के  नयाभरगामा के हिंगवा वार्ड 15 के दो मजदूरों का शव गांव पहुंचन के बाद  गुरुवार को मुस्लिम रीति-रिवाज से अंतिम संस्कार किया जायेगा. बुधवार देर  रात तक मृत दोनों भाइयों का शव गांव पहुंचने की उम्मीद जतायी जा रही है.  मृतक के पिता मो अकलिम व उसके परिजन एंबुलेंस से  दोनों बेटों का शव लेकर घर के लिए रवाना हो चुके हैं.
मंत्री के काफिले पर हमला पुलिस ने की हवाई फायरिंग
सुपौल. पैक्स चुनाव के तहत करायी गयी मतगणना में धांधली का आरोप लगाते करिहो पैक्स के पराजित उम्मीदवार अतिश कुमार ने सैकड़ों समर्थक के साथ बुधवार को सुपौल-सिहेंश्वर पथ में करिहो स्थित पटेल चौक पर आगजनी कर प्रदर्शन किया. इसी बीच सुपौल की ओर से मधेपुरा जा रहे अनुसूचित जाति एवं जनजाति मंत्री सह सुपौल के प्रभारी मंत्री रमेश ऋषिदेव का काफिला वहां पहुंचा. इसी दौरान लाठी- डंडे से लैस करीब 200 प्रदर्शनकारियों ने मंत्री के काफिले पर हमला कर दिया. पुलिस ने छह राउंड हवाई फायरिंग की.

 534 total views,  2 views today