कल्याणपुर थाना क्षेत्र में दो पक्षो में जमकर हुई मारपीट लगभग आधा दर्जन लोग हुए घायल। रमेश शंकर झा के साथ ठाकुर वरुण कुमार की रिपोर्ट। समस्तीपुर बिहार।

रमेश शंकर झा के साथ ठाकुर वरुण कुमार की रिपोर्ट। समस्तीपुर बिहार। समस्तीपुर/कल्याणपुर:- जिले के कल्याणपुर थाना क्षेत्र में दो पक्षो में जमकर हुई मारपीट लगभग आधा दर्जन लोग हुए घायल। नौकरी का आनंद लेना चाहते हैं तो चले आइए समस्तीपुर जिला क्षेत्र के कल्याणपुर थाना में जहां किससे कैसे बात करना है कोई बंदिशें […]

रमेश शंकर झा के साथ ठाकुर वरुण कुमार की रिपोर्ट।
समस्तीपुर बिहार।

समस्तीपुर/कल्याणपुर:- जिले के कल्याणपुर थाना क्षेत्र में दो पक्षो में जमकर हुई मारपीट लगभग आधा दर्जन लोग हुए घायल। नौकरी का आनंद लेना चाहते हैं तो चले आइए समस्तीपुर जिला क्षेत्र के कल्याणपुर थाना में जहां किससे कैसे बात करना है कोई बंदिशें नहीं। पत्रकारों को भी बैरन लौटा दिया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यहां के जनता की मानसिकता सोई हुई है। जिसे आपस में लड़ने के अलावा कुछ समझ में नहीं आता है। बतादे कि दिनांक 30-03-2019 को कल्याणपुर थाना क्षेत्र के खरसण्ड पूर्वी ग्राम में दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई जिसमें करीब आधा दर्जन लोग बुरी तरह जख्मी हो गए। घायलों के नाम जागेश्वर राय (45) पिता ललित राय, सुनीता देवी (40) पति जागेश्वर राय, आरती कुमारी पिता जागेश्वर राय हैं यह सभी जख्मी एक पक्ष के हैं। दूसरे पक्ष के घायलों के नाम की जानकारी प्रशासन से नहीं मिल सकी। वहीं प्रशासन का कहना है कि दोनों पक्षों से शिकायत दर्ज की गई है। लेकिन जानकारी प्राप्त करने का हक हम पत्रकारों को नहीं है ऐसा वहाँ पदस्थापित मुंशी का कहना है। वहीं जगेश्वर राय के द्वारा आवेदन देने के बाद भी आवेदक का पुलिस अधीक्षक के आवास पर जाना और वहां से उसे कुछ पुलिस कर्मियों के द्वारा नगर थाना भेज देना और फिर वहाँ से स्थानीय थाना लौटा देना क्या दर्शाता है कि हमारे रक्षक क्या कर रहे हैं। पुलिस अधीक्षक के आवास के बाहर पीड़ित परिवार पत्रकारों से टकरा गए तब इस बाबत जानकारी मिली। वहीं जब घटना की सत्यता की पुष्टि के लिए पत्रकार बंधु स्थानीय थाना पहुंचे तो यही पीड़ित परिवार वहां पहले से उपस्थित था। जहां उसके साथ डांट फटकार किया जा रहा था। वहीं पूछने पर जानकारी मिली कि इन्होंने पहले ही शिकायत दर्ज कर दिया था तथा दूसरे पक्ष ने भी शिकायत दर्ज कराया है। वहीं थाना से दूसरे पक्ष के घायलों का नाम पूछने पर मुंशी के द्वारा जवाब आया आप पूछने वाले कौन होते हैं। जी हां यह है हमारा कल्याणपुर थाना की पुलिस की कहानी।

*