चेतना सामाजिक संस्था,अग्रगामी इण्डिया एवं ग्लोबल हेल्थ स्ट्रेटजीस के संयुक्त तत्वावधान में “मीडिया-परिवार नियोजन में एक आवश्यक हितधारक” विषयक मीडिया कार्यशाला का आयोजन किया गया

🔊 Listen This News सुरेश राय /उमेश चौधरी  समस्तीपुर। समस्तीपुर जिलें के स्वंयसेवी संस्था चेतना सामाजिक संस्था,अग्रगामी इण्डिया एवं ग्लोबल हेल्थ स्ट्रेटजीस के संयुक्त तत्वावधान में मोहनपुर रोड स्थित में सेलिब्रेशन सभागार में “मीडिया-परिवार नियोजन में एक आवश्यक हितधारक” विषयक मीडिया कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर रामनाथ विद्रोही(अध्यक्ष, इंडियन […]

 235 total views,  1 views today

सुरेश राय /उमेश चौधरी 

मस्तीपुर। समस्तीपुर जिलें के स्वंयसेवी संस्था चेतना सामाजिक संस्था,अग्रगामी इण्डिया एवं ग्लोबल हेल्थ स्ट्रेटजीस के संयुक्त तत्वावधान में मोहनपुर रोड स्थित में सेलिब्रेशन सभागार में “मीडिया-परिवार नियोजन में एक आवश्यक हितधारक” विषयक मीडिया कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर रामनाथ विद्रोही(अध्यक्ष, इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन),डॉ कंनुप्रिया, डॉ अमृता कुमारी(सचिव, रोटरी इंटरनेशनल),संजय सुमन(निर्देशक,ग्लोबल हेल्थ स्ट्रेटजीस),अनिमेष कुमार,(अग्रगामी इण्डिया),संजय कुमार बब्लू(अध्यक्ष, प्रगति आदर्श सेवा केंद्र)एवं चेतना अध्यक्ष डॉ मिथिलेश कुमार ने संयुक्त रूप से किया।कार्यक्रम के उद्घाटन भाषण में डॉ कंनुप्रिया ने कहा कि अशिक्षित महिलाओं के बीच परिवार नियोजन की जानकारी देना काफी जरूरी है।बढ़ते मातृ एवं शिशु मिरत्यु दर को परिवार नियोजन से ही दूर कर सकते हैं।श्री रामनाथ विद्रोही ने कहां की मीडिया लोगों को जागरूक कर बढ़ते जनसंख्या दर को रोक सकता हैं।अग्रगामी इण्डिया के कार्यक्रम समन्वयक अनिमेष कुमार ने कहां की परिवार नियोजन एक प्रमुख स्वास्थ्य हस्तक्षेप है जिसका महिलाओं और बाल स्वास्थ्य पर सीधा प्रभाव पड़ता है, जिसमें मातृ और शिशु मृत्यु दर में कमी शामिल है। बिहार में परिवार नियोजन के प्रगतिशील कदमों के बावजूद, कई महिलाओं के पास अभी भी इन सेवाओं तक पहुंच नहीं है, एक घर में निर्णय लेने की शक्ति सीमित है, और जानकारी या साधन का अभाव है। नतीजतन, बिहार में मातृ और शिशु मृत्यु दर लगातार बढ़ रही है, महिलाएं कम वजन वाले बच्चों को जन्म देती हैं, और एचआईवी सहित यौन संचारित संक्रमणों से पीड़ित होती हैं।


ग्लोबल हेल्थ स्ट्रैटेजीज (जीएचएस) के निर्देशक श्री संजय सुमन ने कहाँ की जीएचएस वर्तमान में बिहार में परिवार नियोजन परियोजना को लागू कर रही है,विभिन्न संस्थाओ के सहयोग से वैश्विक स्वास्थ्य रणनीतियाँ, बिहार में सूचित और विस्तारित गर्भनिरोधक विकल्पों में सुधार के लिए अनुकूल वातावरण बनाने के लिए प्रयासरत है। परियोजना का उद्देश्य गर्भनिरोधक को बेहतर बनाना और महिलाओं और बच्चों के बीच स्वास्थ्य संकेतकों को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने के लिए रिक्ति के तरीकों की स्वीकृति में वृद्धि करना है।राष्ट्रीय सहारा के संजय कुमार राजा ने कहां की समाज मे कई वर्गो में भौतिक, सामाजिक एवं आर्थिक समता और जागरूकता का अभाव है सामाजिक संगठनों को गांव तक जाने की आवश्यकता है।झंझट टाइम्स के संपादक श्री राजकुमार राय ने कहां की महिलाओं व नवयुवतियों में परिवार नियोजन की जानकारी का अभाव हैं।उन्हें जागरूक कर ही परिवार नियोजन के लक्ष्य को पाया जा सकता है। दस्तक प्रभात, पटना के संपादक प्रभात वर्मा ने कहां की बाल विवाह परिवार नियोजन के लक्ष्य की प्राप्ति में बाधक हैं।प्रभात खबर के गिरिजा नंदन ने कहां की भारत मे बढ़ते प्राकृतिक आपदा के कारण बढ़ती जनसंख्या हैं।जिसके कारण पृथ्वी का तापमान बढ़ रहा हैं और पीने की पानी की समस्या बढ़ रही हैं।मीडिया दर्शन/मिथिला हिन्दी न्यूज बेव पोर्टल के राजेश कुमार वर्मा ने कहां की पंचायत व वार्ड स्तर पर योजना निर्माण कर बढ़ती जनसंख्या को रोका जा सकता हैं।हिन्दुस्तान के ब्यूरो चीफ रामबाबू सुमन ने कहां की परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थाई साधनों की जानकारी व उसके लाभ का व्यापक प्रचार-प्रसार की आवश्यकता है।जिसमें मिडिया अपना सक्रिय भूमिका निभाएगी।अपने अध्यक्षीय भाषण में डॉ० मिथिलेश कुमार ने कहां की चेतना के प्रयास से समस्तीपुर के कुछ क्षेत्रों में गर्भ निरोधक साधनों का उपयोग बढ़ा हैं।जनसंख्या दर को कम करने व विज़न 2020 के लक्ष्य को हासिल करने में समस्तीपुर अपने कर्तव्य से पीछे नही हटेगा।मीडिया कार्यशाला के आयोजन का उद्देश्य वरिष्ठ संपादकों, नीति निर्माताओं, तकनीकी विशेषज्ञों और समुदाय के सदस्यों सहित प्रमुख हितधारकों को एक साथ लाने के लिए प्रासंगिक डेटा और सबूत पेश करना है जो बिहार में परिवार नियोजन में तेजी लाने में आवश्यक होगा।कार्यक्रम का संचालन एनजीओ संघ के सचिव संजय कुमार बब्लू ने किया।जबकि धन्यवाद ज्ञापन चेतना सचिव सविता कुमारी ने किया। कार्यक्रम में हिंदुस्तान के रामबाबू सुमन एवं उमेश कुमार मिश्रा,राष्ट्रीय सहारा के संजय कुमार राजा,आज के शिव चंद्र झा,प्रभात खबर के गिरिजा नंदन,दैनिक भास्कर के निर्भय सिंह, दैनिक जागरण के प्रकाश कुमार,इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष रामनाथ विद्रोही, सन्मार्ग वैशाली के राजेश झा आलोक,दस्तक प्रभात पटना के प्रभात वर्मा,मधुबनी के रामकुमार,झंझट टाइम्स के राजकुमार राय,मीडिया दर्शन के राजेश कुमार वर्मा, एनडीटीवी के हरेश्वर दादा,एभीपी के प्रभात कुमार, आजतक के जहांगीर आलम,रंजेश कुमार झा,आलोक,आशीष कुमार, धर्मविजय गुप्ता, उमेश चौधरी, संजय कुमार राय, आशिष कुमार , डॉ० कंनुप्रिया, रोटरी की सचिव डॉ० अमृता कुमारी, जवाहर ज्योति बाल विकाश केंद्र के सुरेंद्र कुमार, आशा सेवा संस्थान के सचिव अमित कुमार वर्मा एवं सुरजनारायन सेवा संस्थान के उमाशंकर सिंह इत्यादि ने भी अपना अपना विचार व्यक्त किया। कार्यक्रम के सफल संचालन में अनिल कुमार गुप्ता, पुरुषोत्तम सिंह, सविता कुमारी, रिंकी कुमारी, अनिल कुमार, रामसुरेश सिंह आदि की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

 236 total views,  2 views today