सांसद की खोज कर रही समस्तीपुर की जनता, ढ़ूढ़ने पर भी नहीं मिल रहें अपने संसदीय क्षेत्र में.

🔊 Listen This News सांसद की खोज कर रही समस्तीपुर की जनता, ढ़ूढ़ने पर भी नहीं मिल रहें अपने संसदीय क्षेत्र में. समस्तीपुर, बिहा । विगत लोकसभा उपचुनाव में समस्तीपुर जिले के लोजपा  के प्रत्याशी सांसद बने माननीय प्रिंस राज को चुनाव उपरांत समस्तीपुर, कुशेश्वरस्थान इत्यादि संसदीय क्षेत्र की जनता ढूंढ रहीं हैं। लेकिन वे […]

 397 total views,  1 views today

सांसद की खोज कर रही समस्तीपुर की जनता, ढ़ूढ़ने पर भी नहीं मिल रहें अपने संसदीय क्षेत्र में.

समस्तीपुर, बिहा । विगत लोकसभा उपचुनाव में समस्तीपुर जिले के लोजपा  के प्रत्याशी सांसद बने माननीय प्रिंस राज को चुनाव उपरांत समस्तीपुर, कुशेश्वरस्थान इत्यादि संसदीय क्षेत्र की जनता ढूंढ रहीं हैं। लेकिन वे नजर नहीं आ रहें है ।

जबकि इनका कहना था कि अपने पिताजी के द्वारा छोड़े गए अधूरे कार्यों को पूरा करेंगे और जिले की जनता के लिए हर समय मौजूद रहेंगे । क्षेत्र के विकास के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे । लेकिन इनका वादा चुनावी सभा की वादा बनकर रह गया है ।

लोगों ने ताजुब्ब जताते हुए कहा है जीत हासिल करने के बाद क्षेत्रीय जनता अपने नवमनोनीत सांसद को देखने के लिए लालायित हो रही है । लेकिन हमारे सांसद जीत के प्रमाणपत्र हासिल करते ही संसदीय क्षेत्र को छोड़कर कहां चले गए है विकास करने वास्ते ऐ जनमानस को सोच में डाल रखा है । लोगों ने आशंका जताते हुऐ चर्चा किया है की जिस तरह से इनके पिताजी भुतपूर्व सांसद स्व० रामचंद्र पासवान ने मृत्यु होने तक संसदीय क्षेत्र की जनता से मुलाकात या भेंट के साथ ही क्षेत्र के विकास के लिए नहीं सोचा था । क्या इसी तरह हमारे वर्तमान सांसद की कार्यशैली होगी । उनके विकासशील रवैया अपनाने के कारण जिस तरह से जिला मुख्यालय में बनने वाली मेडिकल कॉलेज व इंजीनियरिंग कॉलेज जिले से दूर गांव में ले जाया गया ।

वहीं समस्तीपुर जं० से आजतक लम्बी दूरी के लिए एक भी ट्रेन का परिचालन नहीं हो सका व भोला टाकीज गुमती के साथ ही मुक्तापुर गुमती पर हवाई ब्रीज नहीं बन सका । वहीं जुट मिल भी नहीं खूल सका तो किसानों के लाभदायी चीनी मील समस्तीपुर को कौन पुछता है । ऐ है पूर्व सांसद की विकास दरें । नये सांसद से क्या उम्मीद रखेगी जनता जब छठ जैसे अहम त्यौहार में लोक आस्था के लिए दर्शन नहीं दे सके तो आगे क्या दर्शन हो सकता है । राजेश कुमार वर्मा

 398 total views,  2 views today