*नामांकन कक्ष में पत्रकारों के जाने पर भी लगी रोक, न्यायालय से जुड़े लोगों और कर्मियों को भी हो रही है परेशानी*

*नामांकन कक्ष में पत्रकारों के जाने पर भी लगी रोक, न्यायालय से जुड़े लोगों और कर्मियों को भी हो रही है परेशानी ज़ाहिद अनवर राजु *दरभंगा*–लोकसभा चुनाव को लेकर आज नामांकन का सिलसिला शुरू हो गया। इस उद्देश्य से जिला प्रशासन ने दरभंगा समाहरणालय के सभी गेट को बंद कर दिया हैं और पूरा परिसर […]

*नामांकन कक्ष में पत्रकारों के जाने पर भी लगी रोक, न्यायालय से जुड़े लोगों और कर्मियों को भी हो रही है परेशानी

ज़ाहिद अनवर राजु

*दरभंगा*–लोकसभा चुनाव को लेकर आज नामांकन का सिलसिला शुरू हो गया। इस उद्देश्य से जिला प्रशासन ने दरभंगा समाहरणालय के सभी गेट को बंद कर दिया हैं और पूरा परिसर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है। परिसर से लेकर लहेरियासराय टावर चौक तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल की तैनाती की गयी है। यहां तक कि नामांकन हॉल में पत्रकारों के जाने पर आज प्रतिबंध लगाये देखा गया। वैसे जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस एम ने पत्रकारों को भरोसा दिलाया कि चुनाव आयोग का पत्रकारों को लेकर जो गाईड लाईन दिया गया हैं उसका वे हर संभव पालन करेगें। वैसे नामांकन प्रक्रिया शुरू होने के बाद से ही पूर्व में पत्रकारों को बैठने के लिए एक जगह मुकरर की जाती रही हैं। जहां पत्रकार बैठक कर समाचार संकलन करते रहे हैं। यहां जिला प्रशासन की ओर से मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराती रही हैं और इसकी मोनेटरिंग जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी के अधीन रहता है, लेकिन इस बार पत्रकारो में असमंजस की स्थिति बनी हुई हैं और नामांकन संबंधित समाचार संकलन करने में भारी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता हैं। जिला प्रशासन की ओर से कहा है कि चैनल व अखबारों को जिला प्रशासन की ओर से फोटो ग्राफ व वीडियों उपलब्ध करा दिया जाएगा। जिसपर पत्रकारों में नाराजगी देखी गयी। वैसे पत्रकारों को कैम्पस में जाने की छूट दी गयी है लेकिन बाहर खड़े पुलिस कर्मियों को कोई भी गाईड लाईन उपलब्ध नहीं कराने की वजह से वह पत्रकारों को भी कैम्पस के अंदर जाने से रोक रहे हैं। कई बार आज पत्रकारों व पुलिस कर्मियों के बीच तू-तू-मैं-मैं भी देखने को मिला। वैसे दरभंगा समाहरणालय और व्यवहार न्यायालय आमने-सामने होने की वजह से दोनो तरफ जिला प्रशासन के द्वारा बेरिकेटिंग लगाया गया था। जिसकी वजह से दरभंगा कमिश्नरी, आईजी आॅफिस, डीआईजी, एसएसपी, एसडीओ कार्यालय सहित कई न्यायालय और व्यवहार न्यायालय में जाने-वाले मुवक्किल को भी काफी परेशानी का समाना करना पड़ा। इस बाबत जब जिलाधिकारी से पूछा गया तो उन्होंने कहा हैं कि सब कुछ ठीक हो जाएगा।