*इलेक्शन कमिशन संदेह के घेरे में।*

इलेक्शन कमिशन संदेह के घेरे में। आर.के.राय संपादक। बिहार। पटना:- बिहार के मुख्य चुनाव आयुक्त संदेह के घेरे में नजर आते हैं. जिन्हें चुनाव कार्य से वंचित करना चाहिए वे बने रहेंगे जिनसे आम लोगों खुश खुश रहते हैं या न्याय मिलता हो उनका तबादला किया जा रहा है. समस्तीपुर में सोमवार को दरभंगा एवं […]

इलेक्शन कमिशन संदेह के घेरे में।

आर.के.राय संपादक।
बिहार।

पटना:- बिहार के मुख्य चुनाव आयुक्त संदेह के घेरे में नजर आते हैं. जिन्हें चुनाव कार्य से वंचित करना चाहिए वे बने रहेंगे जिनसे आम लोगों खुश खुश रहते हैं या न्याय मिलता हो उनका तबादला किया जा रहा है. समस्तीपुर में सोमवार को दरभंगा एवं मुंगेर कमिश्ननरियो के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी एवं जिला अधिकारियों की बैठक में पत्रकारों के प्रश्न के उत्तर मुख्य चुनाव अधिकारी एच आर श्रीनिवासन नहीं देसके. जब उनसे पत्रकारों ने पूछा मुंगेर प्रमंडल की समीक्षा में क्या आया आप बताएंगे कि चुनाव में संदिग्ध लोगों की चिन्हित कर लिया गया है तो उसकी संख्या क्या है. क्योंकि मुंगेर जिला से निर्मित ए के -47 पूरे राज्य व देश में सप्लाई की जा रही है, जो मामला निकट में सामने आया था. मुख्य चुनाव आयुकत् ने कोई फिगर पत्रकारों को देने में असमर्थ देखे गए. समस्तीपुर मे दरभंगा और मुंगेर कमिश्नरी के आईजी, डीआईजी, एस.पी. के संदिग्ध गतिविधियो की जांच होनी चाहिए. बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे को मुख्य चुनाव आयुक्त तत्काल प्रभाव से हटा दें. क्योंकि पूर्व में भाजपा से चुनाव लड़ने के लिए पुलिस सेवा से त्यागपत्र दिया था बाद में कई महीनों के बाद पून: पुलिस सेवा में आना भी एक प्रश्नवाचक चिन्ह खड़ा करता है ?……