*बाल-बाल बचा विद्युत विभाग के मानव बल। सब पे नजर सबकी खबर, हमसे जुड़ने के लिए:- 8709017809, W:- 9431406262, 9470616268 पर संपर्क करें।*

🔊 Listen This News   राकेश कु०यादव बेगूसराय बिहार। बेगूसराय/बछ्वाड़ा:- युं तो विद्युत विभाग की लापरवाही के कारण अबतक दर्जनों लोगों की मौत हो चुकी है। मगर इस बार लापरवाही के कारण काल के गाल में समाने से विद्युत विभाग का मानव बल ही बाल-बाल बचा। वहीँ विद्युत विभाग कि लापरवाही से हमेशा जान माल […]

 243 total views,  1 views today

 

राकेश कु०यादव
बेगूसराय बिहार।

बेगूसराय/बछ्वाड़ा:- युं तो विद्युत विभाग की लापरवाही के कारण अबतक दर्जनों लोगों की मौत हो चुकी है। मगर इस बार लापरवाही के कारण काल के गाल में समाने से विद्युत विभाग का मानव बल ही बाल-बाल बचा। वहीँ विद्युत विभाग कि लापरवाही से हमेशा जान माल का खतरा बना रहता है। हल्की सी वारिस में भी बछ्वाड़ा विद्युत सब स्टेशन के अन्तर्गत सभी छः फीडर की बिजली पुर्ण रुप से ठप हो जाति है। इसी क्रम में बुधवार की शाम हल्की आंधी तुफान के साथ वारिस होने के कारण बछवाड़ा विद्युत सब स्टेशन के सभी फीडर में बिजली पुर्ण रुप से ठप हो गया। बिजली ठप होने पर पावर हाउस स्थित विधुत ऑपरेटर के द्वारा सभी फीडर को ब्रेक डाउन घोषित करने के साथ ही इसकी सूचना वरीय पदाधिकारी को दी गई। पुनः वरीय पदाधिकारी के निर्देश पर मानव के द्वारा विभिन्न फीडरों को शटडाउन को लेकर ठीक करने कि कोशिश करने लगे। वही रात्री के नौ बजे लगभग विद्युत सब स्टेशन के फीडर संख्या दो में मानव बल मनोज कुमार के द्वारा शटडाउन को लेकर फतेहा गांव के समीप ग्यारह हजार वोल्ट की तार ठिक करने पोल पर चढ़ा था। इसी दौरान पावर हाऊस में कार्यरत विधुत ऑपरेटर धर्मेंद्र कुमार के द्वारा बिजली चालू कर दिया गया। ग्यारह हजार पोल पर चढ़ा मानव बल अचानक पोल के समीप दुकान में बल्ब जलते देख ततक्षण पोल से नीचे उतर गया। करीब दस मिनट तक मानब बल वदहवास हो गया वही सहयोगी मानवबल के द्वारा मानव बल को वापस पावर हाउस लेकर आया। क्षेत्र में कार्यरत सभी मानब बल एक राय बनाकर विधुत ऑपरेटर के खिलाफ मोर्चा खोला और फीडर में काम नही करने का निर्णय लेकर पावर हाउस में बैठ गया। रात्री ग्यारह बजे विद्युत विभाग के एसडीओ उमंग अग्रवाल, जेई अखिलेश कुमार शर्मा ने बछवाड़ा पावर हाउस आकर काफी समझाने के बाद मानब बल को मनाकर किसी तरह काम करने के लिए राजी कराया। करीब छः घंटे के बाद मानव बल द्वारा पुनः फीडर संख्या दो चालू कराया गया। स्थानीय लोगो का कहना है कि विद्युत विभाग के लापरवाही के कारण हल्की हवा व वारिस होने के साथ ही बिजली गुम हो जाता है। पुनः बिजली चालू करने के दौरान कनिय अभियंता, सहायक विधुत अभियंता कार्य स्थल पर उपस्थित नही रहते है। बल्कि कार्य क्षेत्र से बाहर रहकर मोबाईल के माध्यम से मानब बल को निर्देश देते है।

 244 total views,  2 views today