शराब के खेल में ,पुलिस प्रशासन फेल ,शराबबंदी का उड रहा है मजाक।

जे टी न्यूज़ / बेतिया।

शहरी क्षेत्र से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में भी ,शराबबंदी कानून का खुल्लम-खुल्ला मजाक उड़ाया जा रहा है, पुलिस प्रशासन, शराबबंदी के खेल में फेल होती नजर आ रही है, पुलिस प्रशासन का इस पर कोई नियंत्रण नहीं है, सभी जगहों पर शराब आसानी से बेची व खरीदी जा रही है, साथ ही, इसका सेवन भी धड़ल्ले से हो रहा है, मगर पुलिस प्रशासन है कि मूकदर्शक बनी हुई है ,इसके अलावा पुलिस प्रशासन का शराबबंदी कानून कामधेनु गाय बन कर रह गई है , इससे इन लोगों का पॉकेट तो गर्म होता ही है, साथ में पीने- पिलाने का भी मजा मिल रहा है ,बिहार सरकार चाहे जितना भी कानून लागू कर दे, मगर शराबबंदी कभी भी सफल नहीं होगी,

क्योंकि जब तक पुलिस प्रशासन चुस्त-दुरुस्त नहीं होगी ,और अपनी आमदनी को इसका जरिया नहीं बनाएगी तब तक शराबबंदी कानून का खुल्लम-खुल्ला मजाक उड़ता रहेगा, बिहार में नशे का धंधा खूब फल फूल रहा है, शराबबंदी का कानून का ढिंढोरा पीटने वाली बिहार सरकार के सिस्टम में, संगठित अवैध शराब और गांजा कारोबारियों को कारोबार करने की छूट दे रखी है, साथ ही, शराब बंदी से जहरीली शराब की तस्करी बढ़ गई है, राज्य में, जहरीली शराब बेफिक्र होकर बेचे जा रहे हैं, और राज्य के लोग इसका परिणाम भुगत रहे हैं, इसलिए शराब माफिया से मिले सभी लोगों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए, जो पुलिस अधिकारी ,शराब तस्करों की मदद करते हैं, उन्हें नौकरी से बर्खास्त कर उन पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए, तभी जाकर शराब बंदी कानून का पूर्ण रूप से लागू किया जा सकता है, जहरीली शराब पीने से कई जिलों में लोगों की मौत हो गई है, और आंख की रोशनी भी चली गई है,शराब पीकर मरने वाले बहुत ही निर्धन परिवार से आते हैं, और रोज- रोज कमाने वाले लोग हैं।


शराब बंदी कानून को लागू करने के लिए बहुत सारे कानून बनाने पड़ेंगे, जो विशेषकर पुलिस प्रशासन पर कड़ी नजर रखनी पड़ेगी ,और जिला के सभी थाना प्रभारियों को इसके लिए जबरदस्त चेतावनी देनी पड़ेगी कि अगर उनके क्षेत्र में किसी प्रकार की शराबबंदी से संबंधित किसी भी घटना होने पर उनको नौकरी से बर्खास्त कर दिया जाएगा, तभी जाकर इस शराब बंदी कानून को का अक्षरस: पालन हो सकेगा, अन्यथा नहीं, सरकार चाहे जितनी भी कानून बना ले मगर इस तरह के कदम उठाने पर ही पूर्ण शराबबंदी कानून लागू हो सकेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.