एनआरसी के खिलाफ भाकपा माले ने निकाला विरोध मार्च * भारत में जन्म लेने,पलने- बढ़ने वालों के नागरिकता पर सबाल उठाना गलत- उमेश

🔊 Listen This News *ko समस्तीपुर 6 नवंबर 2014 असम के डिटेंशन कैंप में 27 लोगों के मौत के जिम्मेदार मोदी- शाह जवाब दो, डिटेंशन कैंप यातना शिविर है, इसे बंद करो, नागरिक संशोधन बिल वापस लो, लोगों की नागरिकता पर खतरा-नहीं सहेंगे इत्यादि नारे लगाते हुए अपने हाथों में झंडे- बैनर लेकर भाकपा माले […]

 520 total views,  1 views today

*ko
समस्तीपुर 6 नवंबर 2014
असम के डिटेंशन कैंप में 27 लोगों के मौत के जिम्मेदार मोदी- शाह जवाब दो, डिटेंशन कैंप यातना शिविर है, इसे बंद करो, नागरिक संशोधन बिल वापस लो, लोगों की नागरिकता पर खतरा-नहीं सहेंगे इत्यादि नारे लगाते हुए अपने हाथों में झंडे- बैनर लेकर भाकपा माले के बड़े संख्या में कार्यकर्ताओं ने बुधवार को अपने देशव्यापी अभियान के तहत शहर के मालगोदाम चौक स्थित भाकपा माले जिला कार्यालय से विरोध मार्च निकाला जो शहर के मुख्य मार्गों का भ्रमण करते हुए स्टेशन चौक पर पहुंचकर सभा में तब्दील हो गया। अध्यक्षता जिला सचिव प्रोफेसर उमेश कुमार ने की।

अमित कुमार, राम कुमार, सुरेंद्र प्रसाद सिंह, जीबछ पासवान, राजकुमार चौधरी, सरफराज अहमद, महावीर पोद्दार, राहुल कुमार, मो० एजाज, प्रवीण आनंद, अरूण राय, उमेश राय,जगदीश साह, मो० अलाउद्दीन, मनोज साह, कृष्ण कुमार आदि ने सभा को संबोधित किया। जिला सचिव प्रो० उमेश कुमार ने कहा मोदी सरकार अपने विरोधियों को ठिकाने लगाने के लिए एनआरसी का इस्तेमाल कर रहे हैं। इससे लोगों की नागरिक का खतरा उत्पन्न हो गया है। जिसके पुरखा- पूर्वज आजादी के आंदोलन में भाग लिए, जो देश के मिट्टी में जन्म लिए, इसी मिट्टी में पले- बढ़े,जो अपने खून- पसीने से देश में योगदान दिये, वैसे लोगों के नागरिकता पर सवाल उठाया जा रहा है। यह जनविरोधी है। इससे देश कमजोर होगा। सरकार इस कार्रवाई को अविलंब बंद करें अन्यथा भाकपा माले आंदोलन को और तेज करेगी।

 521 total views,  2 views today